कांगड़ा चाय पुनर्जीवित करने के लिए विशेष केन्द्रीय औद्योगिक पैकेज की मांग

0
478
kangra-tea-garden

kangra-tea-garden

“बेहविश्व की तरीन चाय में शामिल कांगड़ा चाय की अन्तर्राष्ट्रीय मार्किंट में काफी मांग है लेकिन , बेहतर ग्रेडिंग, पैकिंग तथा मार्किटिंग की सुविधा के अभाव में यह चाय दम तोड़ रही है तथा चाय बागानों के अन्तर्गत क्षेत्र में लगातार कमी आ रही है, जिसके चलते विश्व की इस बेहतरीन चाय पुनर्जीवन देने और इसकी गुणवता को बढ़ावा देने के लिए विशेष केन्द्रीय औद्योगिक पैकेज की मांग की है”

वन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया तथा कांगड़ा के पूर्व सांसद चन्द्र कुमार ने केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सुदर्शना नाचीअप्पन से भेंट कर उनसे कांगड़ा चाय को पुनर्जीवित करने के लिए विशेष केन्द्रीय औद्योगिक पैकेज प्रदान करने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि कांगड़ा चाय विश्व की बेहतरीन चाय में शामिल है तथा इसकी अन्तर्राष्ट्रीय मार्किंट में काफी मांग है। लेकिन , बेहतर ग्रेडिंग, पैकिंग तथा मार्किटिंग की सुविधा के अभाव में यह चाय दम तोड़ रही है तथा चाय बागानों के अन्तर्गत क्षेत्र में लगातार कमी आ रही है।

वन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया ने पालमपुर स्थित केन्द्र वैज्ञानिक अनुसंधान केन्द्र को कांगड़ा चाय पर विशेष शोध करके यहां नई चाय प्रजातियों की पैदावार की संभावनाएं तलाशने का अनुरोध करते हुए कांगड़ा चाय की ग्रेडिंग तथा विपणन में केन्द्रीय चाय बोर्ड के विशेषज्ञों की सेवाएं प्रदान करने का अनुरोध किया।

केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सुदर्शना नाचीअप्पन ने कहा कि वह शीघ्र ही कांगड़ा का दौरा करके कांगड़ा चाय से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर सभी सम्बन्धित पक्षों से विचार-विमर्श करके कांगड़ा चाय की वैभवता को वािपस लाने में मदद करेंगे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS