आम जनता भी कर सकेगी शिमला में स्थित राष्ट्रपति भवन का दीदार

0
250

“शिमला में स्थित राष्ट्रपति निवास के दर्शन अब आम जनता भी कर सकती है शिमला के छराबड़ा स्थित रिट्रीट को अब आम जनता के लिए भी खोला जा रहा है, जिससे चलते आम लोग भी इस भवन के इतिहास से रूबरू हो सकते है, इससे पहले इस ऐतिहासिक भवन को साल में केवल दो हफ्ते तब ही खोला जाता है, जब गर्मियों में राष्ट्रपति या उनके परिजन शिमला छुट्टियां बिताने आते हैं”

देश के राष्ट्रपति के शिमला स्थित निवास के दरवाजे आम जनता के लिए खोले जा रहे हैं। नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन की तरह इसे भी एक टूरिस्ट प्वाइंट के तौर पर सैलानियों को दिखाया जाए।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी चाहते हैं कि छराबड़ा स्थित रिट्रीट को न केवल वे , उनका परिवार और मेहमान प्रयोग करें , बल्कि आम लोग भी इस भवन के इतिहास से रूबरू हों।

राष्ट्रपति की सचिव ओमिता पाल ने शिमला आकर मुख्य सचिव से इस मसले पर बैठक की है। उन्होंने कहा है कि रिट्रीट को नया रूप देने के लिए सीपीडब्ल्यूडी और राज्य सरकार को मिलकर काम करेए ताकि राष्ट्रपति की इच्छा को जल्द पूरा किया जा सके।

प्रणब मुखर्जी 23 मई को जब शिमला आए थे, तो यहीं रुके थे। वर्तमान में इस ऐतिहासिक भवन को साल में केवल दो हफ्ते ही तब खोला जाता हैए जब गर्मियों में राष्ट्रपति या उनके परिजन शिमला छुट्टियां बिताने आते हैं।

शहर से करीब 7 मील दूर छराबड़ा में स्थित रिट्रीट में कुल 16 कमरे हैं। कोटी रियासत के राजा ने इस भवन का निर्माण 1840 में कराया था। बाद में इसे भारत सरकार को स्थायी लीज पर सौंप दिया गया।

आजादी के बाद से ही भारतीय उच्च अध्ययन संस्थान भवन को राष्ट्रपति निवास का दर्जा प्राप्त था। लेकिन 1962 में तत्कालीन राष्ट्रपति डाण् सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने जब इसे एडवांस्ड स्टडी के लिए दे दिया तो छराबड़ा के रिट्रीट को राष्ट्रपति निवास बनाया गया।

देश में राष्ट्रपति के कुछ तीन आधिकारिक निवास हैं। राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली, राष्ट्रपति निलयम सिकंदराबाद और रिट्रीट शिमला।
source :amarujala

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS