धर्मशाला में एक संदिग्ध चीनी जासूस को किया गया है गिरफ्तार

0
521
dharamshala

dharamshala

“तिब्बती सुरक्षा एजेंसियों से उनकी संदिग्ध गतिविधि के बारे में लिखित शिकायत मिलने के बाद यह गिरफ्तारी कि गई है,गिरफ्तार किए गए तिब्बती मूल के पेमा सेरिंग को एक संदिग्ध चीनी जासूस बताया जा रहा है”

धर्मशाला। पुलिस ने मैकलोडगंज से एक संदिग्ध चीनी जासूस को गिरफ्तार करने का दावा किया है। कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक बलवीर ठाकुर ने बताया कि तिब्बती मूल के पेमा सेरिंग को बुधवार शाम धर्मशाला में तिब्बत सरकार की सुरक्षा एजेंसियों की
शिकायत पर गिरफ्तार किया गया।

ठाकुर ने कहा कि तिब्बती सुरक्षा एजेंसियों से उनकी संदिग्ध गतिविधि के बारे में लिखित शिकायत मिलने के बाद बुधवार की शाम को हमने उन्हें गिरफ्तार किया। पुलिस ने सेरिंग के पास से एक भारतीय मतदाता पहचान.पत्र और आधार कार्ड भी बरामद किया गया। दोनों दस्तावेज दिल्ली के चांदनी चौक में पंजीकृत हैं।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हम उनके कब्जे से बरामद दस्तावेजों की वैधता और क्या उन्होंने भारतीय नागरिकता हासिल की है, इसकी जांच कर रहे हैं क्योंकि उनके पास से एक भारतीय मतदाता पहचान पत्र मिला है। पुलिस के अनुसार सेरिंग नेपाल के रास्ते 2009 में भारत पहुंचा और कुछ दिन पहले ही वह धर्मशाला पहुंचा।

तिब्बती खुफिया रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए ठाकुर ने कहा कि सेरिंग चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के एक सदस्य थे और उन्होंने भारत आने से पहले पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स( पीएपीएफ ) में सेवा की।

उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। धर्मशाला से ही तिब्बत की निर्वासित सरकार संचालित होती है और दलाई लामा वहीं रहते हैं।
-PTI
Image:Himachal Tourism

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS