हिमाचल प्रदेश विश्वविधालय के एमटीए परिक्षा परिणाम में हुआ गड़बड़ घोटाला बिना परिक्षा दिए छात्र को बना दिया टापर

0
425
hpu-summerhill

hpu-summerhill

विवि कार्यप्रणाली पर लगे सवालिया निशान जारि है राजनितिक छात्र संगठनों के बीच आपसी घमासन

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एमटीए विभाग के परिक्षा परिणाम में हुए फर्जीवाडे़ का खुलासा होने से विवि की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में आ गई है एमटीए के परिक्षा परिणाम में उस छात्र को टाॅपर बनाया गया है जिसने परिक्षा में अपनी उपस्थिति ही दर्ज नहीं करवाई है । एमटीए विभाग ने रिजल्ट में ऐसे छात्र को सेंकेड टाॅपर बना दिया है,जिसने पेपर ही नहीं दिया है। इस सारेे मामले का खुलासा एससीए ने किया है ओर उनका आरोप है कि ये छात्र एबीवीपी के है।

मास्टर आफ टूरिज्म एंड एडमिनिस्ट्रेशन की परिक्षा परिणाम में हुई गलती ने हिमाचल विश्वविद्यालय की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिया हैै। हजारों छात्रों के भविष्य को सही राह देने वाला हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की इस तरह की गैरजिम्मेदार कार्यप्रणाली से जहां एक ओर छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है परिक्षा में उन छात्रों को पास किया जा रहा है, जिन्होंने परिक्षा दी ही नहीं है ओर जो छात्र पुरी मेहनत ओर लग्न से पढ़ाई करके परिक्षा मंे बैठे थे उनकी मेहनत पर किसी की लापरवाही भारि पड़ रही है ।
वहीं दूसरी ओर इस सारे फर्जीवाड़े के पीछे छिपे गैरजिम्मेदार लोगों को सामने लाने ओर पुरे मामले को साफ करने की दिशा में मिल कर प्रयास करने को नजरअदांज कर छात्र संगठन एक दूसरे की छवि को दागदार करने पर अपना पूरा ध्यान लगाए हुए है।

एमटीए के परिक्षा परिणाम में परिक्षा में अनुपस्थित छात्रों को पास करने के मामले मेें विवि ने तुरंत कार्यवाही करते हुए परीक्षा शाखा की पी जी ब्रांच के चार कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है पर प्रशासन के निणर्य को दरकिनार कर एससीए ने विवि प्रशासन ़द्वारा ़़मामले की जांच के लिए गठित कमेटी की जाचं को अविश्वसनिय करार देते हुए विजिलेंस से पुरे मामले की जांच करवाने की मांग की है। जिन छात्रों को परिक्षा में उपस्थिति न रहते हुए भी पास कर दिया गया है उनका सबंध एबीवीपी से है पर एबीवीपी ने इस सारे मामले को एससीए की साजिस करार दिया है ओर आर पार की जंग राजनितिक छात्र सगठनों में जारि है कि किस तरह इस सारे मुद्वे को राजनैतिक तुल दिया जा सके।

वहीं अपने साथी कर्मचारियों को बचाने के लिए गैर शिक्षक कर्मी एकजुट हो निलंबित कर्मचारियों का निलंबन वापिस लेने की मांग की है ओर अगर मांग पुरी नहीं हुई तो अगामी बैठक मंे काम बदं करने पर निर्णय होगा

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS