चित्र/वीडियो- कोटखाई रेप-मर्डर केस: गुम्मा और शिमला सहित कई स्थानों पर गुड़िया को इंसाफ दिलाने सड़कों पर उतरा जन सैलाब

0
1880
Protest-against-Rape

शिमला- कोटखाई में गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में गुड़िया को इंसाफ दिलाने के लिए हिमाचल में जनता का सैलाब सड़कों पर उतर आया है। गुम्मा, ठियोग और कोटखाई इलाके में आंदोलन तेज होता जा रहा है।

kothkai-rape-and-murder-case-2

पिछले कई दिन से जारी आंदोलन मंगलवार को भी जारी रहा। गम्मा में मंगलवार को विशाल रैलियां निकाली गई जिसमे स्थानीय लोगों के साथ साथ आस पास की पंचायतों से भी आम जन इस आंदोलन में शामिल हुए।

वीडियो

Kotkhai Rape-Murder Case: Ongoing Protest in Gumma, Shimla

From protest in Gumma, #Shimla over #Kotkhai rape-murder case

Himachal Watcher ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಸೋಮವಾರ, ಜುಲೈ 17, 2017

गुस्साए लोगों ने प्रदेश पुलिस और प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस आंदोलन में कई पार्टियों के नेता भी शामिल हुए।

stepping-stone-school-gumma

प्रदर्शन में नाबालिग गुड़िया के पिता और अन्य परिजनों ने भी हिस्सा लिया।

Gumma-Himachal-Pradesh

गुम्मा में विरोध प्रर्दशन के दौरान गुडिया के परिवार से पिता,माता, बहनें व अन्य परिजन भी उपस्थित रहे। इस दौरान वहां माहौल काफी गमगीन हो गया था और वहां मौजूद लोग सभी लोगों की आंखों से आंसू छलक रहे थे। परिजनों और लोगों की यह मांग रही कि जब तक गुडिया के हत्यारों को फांसी नहीं मिलती उस समय तक न तो बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी न ही उनको चैन रहेगी। उन्होंने कहा दोषियों को फांसी की सजा मिलने पर ही इंसाफ नजर आएगा।

Crime-rate-in-Himachal

प्रदर्शन के दौरान वहां पर यातायात पूरी तरह से ठप रहा। ठियोग-हाटकोटी मुख्य मार्ग पूरी तरह से बंद रहा और लोग सड़कों पर डटे रहे। वहां मौजूद हजारों लोगों ने एक स्वर से इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की और कहा कि पुलिस जांच पर जो सवाल उठ रहे हैं, उसे लेकर सरकार को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

Justice-for-gudiya

लोगों ने इस मामले में असली गुनाहगारों को पकड़ने की मांग की और कहा कि जो भी असली आरोपी है, उन्हें जल्द से जल्द सलाखों के पीछे पहुंचाया जाए। लोगों ने यह भी कहा कि उनका विश्वास पुलिस और पुलिस की एसआईटी की जांच रिपोर्ट से पुरे तरह से उठ गया है।

gumma-kotkhai

जाम करीब 5 घंटे तक लगा रहा। वहां मौजूदा भीड़ ने एक गाड़ी का शीशा तक तोड़ दिया। गुम्मा में एसडीएम के आश्वासन देने पर भी लोग भड़के, प्रदर्शन में शामिल लोग धरना स्थल पर अड़े रहे। प्रदर्शन कर रहे लोगों ने एसआईटी के अधिकारियों को सामने लाने की भी मांग की।

female-safety

भारी संख्या में महिलाओं स्कूल के छात्रों -छात्राओं ने इस प्रदर्शन में भाग लिया। सरकार व पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और गुड़िया को इंसाफ दिलवाने व असली आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग की।

Justice-for-gudiya-3

ज्ञात हो कि कुछ समय पहले कोटखाई में छात्रा से रेप और हत्या का मामला में पूरा ठियोग बंद था और गुस्साए लोगों ने भरी संख्या में धरना
प्रदर्शन किया था और प्रदेश सरकार से इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी।

Crime-in-Himachal

लोगों द्वारा सीबीआई मांग इसलिए की गयी थी क्यूंकि पुलिस के बड़े अधकारियों द्वारा की गए प्रेससवार्ता में पुलिस द्वारा बताई गयी इस घटना की परिकल्पना लोगो को रास नहीं आ रही थी। लोगों ने यह आरोप लगाया था कि मामले में प्रभावशाली लोगों को पुलिस बचा रही है जबकि छोटे लोगों को फंसाकर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की जा रही है।

Gumma-Protest

लोग शुरू से ही आरोप लगा रहे थे कि इस मामले में बड़े बड़ों को बचाया जा रहा है और छोटे लोगों को बलि का बकरा बनाया गया है। एसआईटी बनने के 55 घंटे बाद ही पुलिस इस सनसनीखेज मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया था। लेकिन पुलिस कई सवालों का जवाब नहीं दे रही थी, जिसकी वजह से लोगों का गुस्सा भड़कने लगा।

Gumma-Protest

इस केस की निष्पक्ष जाँच के लिए लोगों ने फिर से इस के लिए सीबीआई जांच की मांग उठाई है। लोगों के आक्रोश के सामने हिमाचल सरकार को झुकना पड़ा और यह केस पुलिस एसआईटी से लेकर सीबीआई को आदेश जारी कर इस मामले की जांच जल्द शुरू करने की मांग की थी।

We-Want-Justice

कोटखाई की दसवीं कक्षा की छात्रों से हुए बलात्कार और हत्या मामले की जांच को सीबीआई से करवाने की सिफारिश के बाद अब राज्य सरकार की ओर से मामले की सुनवाई जल्द करवाने बारे आवेदन दाखिल किया गया है जिसे हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।

Protest-in-gumma

हिमाचल हाई कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई बुधवार सुबह के लिए निर्धारित की है। प्रदेश हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल और न्यायाधीश संदीप शर्मा की खंडपीठ के समक्ष इस मामले पर सुनवाई होगी।

kothkai-rape-and-murder-case

मंगलवार को इस आवेदन को दाखिल करने के दौरान पुलिस अधीक्षक शिमला भी हाईकोर्ट में मौजूद रहे। महाधिवक्ता ने न्यायालय से यह आग्रह किया कि सीबीआई को आदेश दिए जाएं ताकि सीबीआई जल्द ही जांच के लिए शिमला पुलिस से इस मामले का पूरा रिकॉर्ड ले।

kothkai-rape-and-murder-case-1

वहीं राजधानी में शिमला इसमें हजारों की तादाद में महिलाएं पुरूष व सैकड़ों बच्चों शामिल रहे। दोपहर बारह बजे रैली डीसी दफ्तर से स्कैंडल, मॉल रोड़ होते हुए लोग राजभवन पहुंचे।

Justice-for-gudiya-1

दूसरी ओर मल्याणा, चम्याणा, भट्टाकुफर के लोग ढली टनल से संजौली, नवबहार से छोटा शिमला पहुंचे। यहां पर लोगों ने सरकार व पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया की।

Massive-Protest-in-gumma

kotkhai-horror

सभी चित्र:तरुण शर्मा

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें