Connect with us

शिक्षा

आर्मी पब्लिक स्कूलों में पीजीटी,टीजीटी और पीआरटी शिक्षकों के भरे जायंगे 8700 पद, 28 जनवरी तक करें आवेदन

teaching vacancy in army public schools 2022

अधिक जानकारी आर्मी वेलफेयर पब्लिक स्कूल की वेबसाइट से ली जा सकती है। टीजीटी पद के लिए स्नातक में 50 फीसदी अंक और बीएड अनिवार्य है। अभ्यर्थी सीटेट या टेट पास होने चाहिए और आयु सीमा 50 वर्ष से कम होनी चाहिए।

शिमला- आर्मी वेलफेयर एजूकेशन सोसायटी के तहत आर्मी पब्लिक स्कूलों में पीजीटी, टीजीटी और पीआरटी पदों पर शिक्षकों के 8700 पद भरे जाएंगे। इनके लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू शुरू हो चुकी है। शिक्षकों के पदों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 28 जनवरी है। सभी पदों के आवेदन के लिए फीस 385 रुपये निर्धारित की गई है।

हिमाचल प्रदेश के अभ्यर्थियों के लिए सोलन और कांगड़ा जिले में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। अलग-अलग राज्यों में वर्तमान में 137 आर्मी पब्लिक स्कूल हैं।

इनमें शिक्षकों के खाली पद आर्मी वेलफेयर एजूकेशन सोसायटी लिखित परीक्षा के आधार पर भरेगी।

स्कूलों में पीजीटी विषय के अंग्रेजी हिंदी,संस्कृत,इतिहास,भूगोल, अर्थशास्त्र,राजनीतिक विज्ञान,गणित,भौतिक विज्ञान,रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, बॉयो टेक्नोलॉजी,सॉइकोलॉजी,कॉमर्स,कंप्यूटर साइंस,गृह विज्ञान और शारीरिक शिक्षा सहित 17 विषयों के पद भरे जाएंगे।

टीजीटी में अंग्रेजी, हिंदी, संस्कृत, इतिहास, भूगोल, राजनीतिक विज्ञान, गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और बायोलॉजी सहित 10 विषयों में नियुक्तियां की जाएंगी। पीआरटी शिक्षक भी नियुक्त होंगे।

पीजीटी पद के लिए स्नातकोत्तर में 50 फीसदी अंकों के साथ बीएड होना अनिवार्य है।

टीजीटी पद के लिए स्नातक में 50 फीसदी अंक और बीएड अनिवार्य है। अभ्यर्थी का सीटेट या टेट पास होने चाहिए और आयु सीमा 50 वर्ष से कम होनी चाहिए। पीआरटी शिक्षक के लिए बीएड या फिर दो वर्ष का डिप्लोमा तथा आयु सीमा फ्रेश अभ्यर्थी के लिए 40 वर्ष से कम होनी चाहिए।

अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड 10 फरवरी को जारी किए जाएंगे तथा 19 और 20 फरवरी को प्रारंभिक परीक्षा ली जाएगी। इसका परिणाम 28 फरवरी को निकलेगा। आर्मी वेलफेयर एजूकेशन सोसायटी ने प्रारंभिक परीक्षा के लिये देशभर में 70 परीक्षा केंद्र बनाए हैं।

Advertisement

शिक्षा

कोरोना के कारण इग्नू की परीक्षाएं स्थगित,15 दिन पहले वेबसाइट पर मिलेगी जानकारी

ignou exams cancelled due to corona

20 जनवरी से 23 फरवरी तक होनी थी ये परीक्षाएं।

शिमला- इग्नू अध्ययन केंद्र कुल्लू की कोऑर्डिनेटर प्रो.सीमा शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के प्रकोप और संक्रामक वृद्धि के कारण परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ी हैं। इग्नू की जारी अधिसूचना के अनुसार परीक्षाओं का अगला शेड्यूल परीक्षा शुरू होने से कम से कम 15 दिन पूर्व इग्नू की वेबसाइट पर प्रकाशित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि छात्र परीक्षा संबंधी जानकारी और अपडेट के लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट देखते रहें। प्रो. शर्मा ने बताया कि जनवरी 2022 सत्र की नई एडमिशन भी शुरू हैं। यह परीक्षाएं 20 जनवरी से 23 फरवरी तक होनी थी।

Continue Reading

शिक्षा

हि.प्र. शिक्षा बोर्ड दृष्टिबाधित अभ्यार्थियों के अधिकारों की उड़ा रहा धज्जियां, न्यायालय में दायर होगी याचिका: श्रीवास्तव

ajay shrivastav

शिमला-हिमाचल प्रदेश विकलांगता सलाहकार बोर्ड के विशेषज्ञ सदस्य और उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने कहा है कि प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी स्पष्ट दिशा निर्देशों की धज्जियां उड़ा कर दृष्टिबाधित एवं हाथ से लिखने में असमर्थ अभ्यार्थियों के साथ परीक्षाओं में अन्याय कर रहा है।

उन्होंने कहा कि बोर्ड द्वारा संचालित 12वीं कक्षा तक की परीक्षाओं के अलावा शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) में भी दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के लिए राइटर संबंधी बिल्कुल अवैध नियम लागू किए गए हैं। अब इस मामले पर भी वह हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे, क्योंकि शिक्षा बोर्ड अपने रवैये में बदलाव के लिए तैयार नहीं है।

श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली हाईकोर्ट ने आदित्य नारायण तिवारी बनाम भारत सरकार मामले में 04 दिसंबर 2018 को फैसला दिया था कि दृष्टिबाधित एवं हाथ से लिखने में असमर्थ अभ्यार्थियों के लिए परीक्षा लेने वाली एजेंसी जब तक राइटर का पैनल नहीं बना लेती है, तब तक केंद्र सरकार 26 फरवरी 2013 को जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप ही परीक्षा ली जाएगी।

उन्होंने बताया कि दिल्ली हाईकोर्ट का कहना था कि यदि परीक्षा आयोजित करने वाली एजेंसी स्वयं राइटर उपलब्ध कराती है तो वह परीक्षार्थी के समान शैक्षणिक योग्यता वाला होना चाहिए। यदि विकलांग विद्यार्थी को अपना राइटर लाना पड़ता है तो 2013 के दिशा निर्देशों के अनुरूप शैक्षणिक योग्यता की शर्त नहीं लगाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने 01 जनवरी 2019 को सभी विभागों एवं राज्य सरकारों को नए दिशानिर्देश जारी करके दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश का सख्ती से पालन करने के लिए कहा था। इसके बावजूद हिमाचल प्रदेश सरकार ने 16 दिसंबर 2020 को केंद्र सरकार के आदेशों की परवाह किए बिना अवैध दिशा निर्देश जारी करके एक क्लास जूनियर कक्षा वाले राइटर की शर्त लगा दी।

ये भी पढ़ें: शिमला में दृष्टिबाधित युवा को सी-टेट परीक्षा में बैठने से रोका, दुर्व्यवहार कर वहां से भगाया

श्रीवास्तव ने बताया कि जब उन्होंने इसका लिखित विरोध किया तो 12 अप्रैल 2021 को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने नई अधिसूचना जारी करके दिल्ली हाईकोर्ट के आदेशों को लागू करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने इसका पालन सुनिश्चित किया। लेकिन राज्य सरकार के शिक्षा विभाग और राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड अभी तक अवैध ढंग से एक क्लास जूनियर राइटर लाने के लिए विकलांग विद्यार्थियों को मजबूर कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग और राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड की संवेदनहीनता और आपराधिक लापरवाही की सजा दृष्टिबाधित एवं हाथ से लिखने में असमर्थ अभ्यार्थियों को दी जा रही है। इस मामले पर वे हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करेंगे।

Continue Reading

शिक्षा

शिमला में दृष्टिबाधित युवा को सी-टेट परीक्षा में बैठने से रोका, दुर्व्यवहार कर वहां से भगाया: श्रीवास्तव

ravi kant

शिमला-हिमाचल प्रदेश राज्य विकलांगता सलाहकार बोर्ड के विशेषज्ञ सदस्य और उमंग फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रो. अजय श्रीवास्तव ने कहा है कि गुरुवार को पंथाघाटी स्थित परीक्षा केंद्र में सी-टेट परीक्षा में बैठने से एक दृष्टिबाधित युवा रविकांत को गैरकानूनी ढंग से रोक दिया गया। पंथाघाटी स्थित परीक्षा केंद्र में उसके साथ दुर्व्यवहार भी किया गया। परीक्षा केंद्र ने सीबीएसई के स्पष्ट दिशा निर्देशों को मानने से भी इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह इसके खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे।

श्रीवास्तव ने बताया कि मंडी के रहने वाले दृष्टिबाधित रविकान्त की विकलांगता 50% है। परीक्षा में लिखने के लिए उसे राइटर की आवश्यकता होती है। गुरुवार को पंथाघटी में मैक डिजिटल विजन नामक परीक्षा केंद्र में उससे कहा गया कि वह एक क्लास जूनियर राइटर लाए। जबकि सीबीएसई की वेबसाइट में स्पष्ट लिखा है कि दृष्टिबाधित एवं हाथ से लिखने में असमर्थ उम्मीदवारों के लिए 26 फरवरी 2013 की भारत सरकार की गाइडलाइंस ही मान्य होंगी। इन गाइडलाइंस के अनुसार पात्र दिव्यांग व्यक्तियों के लिए कोई भी राइटर बन सकता है। राइटर की शैक्षणिक योग्यता कि कोई शर्त नहीं लगाई जाएगी। लेकिन रविकांत की राइटर की शैक्षिक योग्यता उसके ही बराबर थी।

उन्होंने बताया, “रविकांत से जानकारी मिलने पर मैंने स्वयं परीक्षा केंद्र के लैंडलाइन नंबर पर कई बार फोन किया। लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। रविकान्त और उसके साथ गई राइटर ने परीक्षा ड्यूटी वाले शिक्षकों से मेरी बात कराने का प्रयास किया। मगर उन्होंने बात करने से इंकार कर दिया। यही नहीं, दृष्टिबाधित युवा को दुर्व्यवहार कर वहां से भगा दिया गया।

अजय श्रीवास्तव ने कहा कि यह दृष्टिबाधित व्यक्तियों के अधिकारों का खुला उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि वह इस मामले के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे ताकि भविष्य में अन्य दिव्यांग व्यक्तियों के जीवन से खिलवाड़ न हो सके।

Continue Reading

Featured

kuldeep rathor as president of himachal pradesh congress kuldeep rathor as president of himachal pradesh congress
राजनीति7 hours ago

प्रदेश को कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर मिला एक झुझारू नेता: जितेंद्र चौधरी

शिमला- आज सोमवार को हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर का अध्यक्ष पद पर तीन वर्ष का कार्यकाल...

nhm-daily-covid-19-report-for-january-17-2022 nhm-daily-covid-19-report-for-january-17-2022
स्वास्थ्य7 hours ago

हिमचाल में बढ़ा कोरोना का प्रकोप, 24 घंटे में 2446 नए मामले दर्ज, 6 लोगों की मौत

शिमला- प्रदेश में कोरोना के नए मामलों में हर दिन तेजी से वृद्धि हो रही है। आज सोमवार को एनएचएम...

ABVP HPU demand opening library ABVP HPU demand opening library
कैम्पस वॉच10 hours ago

50% क्षमता के साथ जल्द पुस्तकालय खोले विश्वविद्यालय प्रशासन:एबीवीपी

शिमला- आज सोमवार को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इकाई ने छात्रों की मांगो को लेकर पुस्तकालय प्रभारी...

nalagarh peer mela nalagarh peer mela
सोलन10 hours ago

कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ा कर मेला लग सकता है लेकिन रक्तदान शिविर नहीं: उमंग फाउंडेशन

आजकल भी आईजीएमसी ब्लड बैंक में रक्त की भारी कमी है। लेकिन सोलन जिला प्रशासन हजारों लोगों की संख्या वाले...

hp bjp incharge karan nanda hp bjp incharge karan nanda
राजनीति10 hours ago

कोविड वैक्सीनेशन का एक वर्ष पूरा, लगभग 66 करोड़ लोग पूरी तरह से वैक्सीनेटेड: भाजपा

शिमला- भारत में कोविड वैक्सीनेशन का एक वर्ष पूरा होने पर हिमाचल प्रदेश भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा एवं...

stray cattle in himachal pradesh stray cattle in himachal pradesh
अन्य खबरे13 hours ago

मनाली के गो सदन में भूख और ठंड से 30 गायों की मौत, गो सदनों की भूमिका पर सवाल: एसएफडी

शिमला- आज सोमवार को स्टूडेंट फ़ॉर डेवलपमेंट (SFD) ने गोवंश व बेसहारा पशुओं की मार्मिक स्तिथि पर चिंता व्यक्त करते...

himachal tourism lahaul himachal tourism lahaul
अन्य खबरे13 hours ago

अब केवल होटल बुक करवाने वाले पर्यटक ही जा सकेंगे लाहौल, पुलिस बैरियर पर दिखानी होगी बुकिंग

लाहौल-स्पीति पुलिस ने आपातकालीन स्थिति और सड़क की स्थिति जानने व अधिक जानकारी के लिए यह संपर्क नंबर जारी किए...

chamba and mandi road accident chamba and mandi road accident
चम्बा1 day ago

हिमाचल में दो अलग जगहों में सड़क हादसे में 5 लोगो की मौत, चम्बा और मंडी में हुआ हादसा

शिमला- आज रविवार को हिमाचल में दो अलग जगहों में सड़क हादसों में कुल पाँच  लोगों की मौत हो गयी...

hp-met-predicts-snow-and-rain-in-himachal-from-17-to-20-january hp-met-predicts-snow-and-rain-in-himachal-from-17-to-20-january
अन्य खबरे1 day ago

हिमाचल में 17 से 20 जनवरी तक बारिश और बर्फबारी के आसार

शिमला- मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार प्रदेश में सोमवार से फिर मौसम बिगड़ने जा रहा है। प्रदेश के मध्यम...

himachal Ration depot himachal Ration depot
अन्य खबरे2 days ago

अब राशन डिपुओं में जमा करवा सकेंगे पानी और बिजली के बिल, फरवरी में शुरू होगी यह सुविधा

हिमाचल में पांच हजार के करीब राशन डिपो हैं। शिमला- हिमाचल प्रदेश के खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मंत्री राजेंद्र गर्ग...

Trending