Connect with us

कैम्पस वॉच

पढ़ें दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को कैसे दिए जायेंगे अंक,शिक्षा बोर्ड ने तैयार किया फार्मूला

hpbose formula for 10 class promotion

शिमला– हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने कोरोना काल में प्रमोट किए गए 10वीं कक्षा के 1,31,902 विद्यार्थियों का रिजल्ट तैयार करने के लिए अंकों का फार्मूला तय कर दिया है।

विद्यार्थियों को सात प्रकार की श्रेणियों के हिसाब से अंक आवंटित किए जाएंगे। इसमें नौवीं कक्षा का परिणाम, 10वीं के फर्स्ट व सेकेंड टर्म की परीक्षा, प्री बोर्ड, एनुअल पेपर, इंटरनल असेस्मेंट और प्रैक्टिकल के अंकों को शामिल किया गया है। अगर एक विषय में थ्योरी समेत 100 अंक हैं तो इसमें 10 अंक नौवीं के, 10वीं की फर्स्ट और सेकेंड टर्म के 15-15, प्री बोर्ड के 40, 10वीं के लिए गए एक पेपर के 5, आईएनए के 15 अंक होंगे।

इसके अलावा जिन विषयों के जितने प्रैक्टिकल हैं, उनके 5 से 25 तक अंक दिए जाएंगे।  फार्मूले के अनुसार अगर किसी विद्यार्थी ने नौवीं और 10वीं  की प्री बोर्ड परीक्षा में 90 फीसदी अंक लिए हैं, तो उसे 9 अंक दिए जाएंगे। 80 वाले को 8, 70 वाले को 7 और 40 फीसदी वाले को 4 अंक दिए जाएंगे। हर विषय में अंक देने के लिए बोर्ड इसी फार्मूले को अपनाएगा। फर्स्ट टर्म, सेकेंड टर्म और प्री बोर्ड परीक्षा में अनुपस्थित रहने वाले परीक्षार्थियों को केवल पास मार्क्स 33 अंक ही दिए जाएंगे।

स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डाॅ. सुरेश कुमार सोनी ने कहा है कि शिक्षा बोर्ड ने पांच विभिन्न श्रेणियों के आधार पर अंकों का वितरण किया है। अंक तालिका तैयार करते समय मेरिट में आने वाले विद्यार्थियों का भी विशेष ध्यान रखा गया है।

विद्यार्थियों को बोर्ड की ओर से परीक्षा के लिए इंप्रूव ऑफ परफॉर्मेंस के लिए एक मौका दिया जाएगा।बोर्ड उन विद्यार्थियों को परीक्षा देने का मौका देगा, जो बोर्ड के द्वारा अंक आवंटन के लिए तय किए गए मापदंडों से संतुष्ट नहीं होंगे।

प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के तहत कंपार्टमेंट की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को भी प्रमोट किया गया है। बोर्ड के पास 2654 विद्यार्थियों ने कंपार्टमेंट की परीक्षा देने के लिए पंजीकरण करवाया था, जिन्हें अब मिनिमम पासिंग मार्क्स के साथ प्रमोट कर दिया गया है।

बोर्ड ने कहा है कि इंप्रूवमेंट की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों पर यह नीति जारी नहीं होगी, क्योंकि वे पहले ही पास थे। वहीं इस बार विद्यार्थियों को किसी भी प्रकार का री-चैकिंग और री-इवेलवेशन का कोई भी मौका नहीं दिया जायेगा।

शिक्षा बोर्ड ने एसओएस के तहत परीक्षा देने वाले 4883 विद्यार्थियों को प्रमोट नहीं किया है। इनमें से बिना टीओसी के डायरेक्ट एडमिशन वाले 2413 और अंक सुधार परीक्षा वाले 2470 विद्यार्थी शामिल हैं। क्योंकि इन छात्रों का बोर्ड के पास किसी भी प्रकार पिछला कोई रिकार्ड नहीं है।

वहीं दूसरी ओर अतिरिक्त विषय, री अपीयर और टीओसी के साथ सभी विषयों में परीक्षा देने वाले एसओएस के छात्रों को भी प्रमोट कर दिया जाएगा। इनके लिए मैरिट लिस्ट मार्च और अप्रैल माह में हुई 10वीं की परीक्षा के आधार पर तैयार की जाएगी।

Advertisement

कैम्पस वॉच

तकनीकी विशवविद्यालय में शिक्षकों व गैर शिक्षकों के लगभग 83 पद खाली, सरकार छात्रों के भविष्य के साथ कर रही खिलवाड़

 

शिमला- हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय में नियमित अध्यापकों की नियुक्ति न होना तथा भारी भरकम फीस ली जाने की वजह से विद्यार्थियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रांत मंत्री विशाल वर्मा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय में पिछले 3 वर्षों से आठ पाठ्यक्रम चलाए जा रहे हैं व विश्वविद्यालय के अंदर 430 से अधिक विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। परंतु दुर्भाग्य की बात है की विश्वविद्यालय के अंदर एक भी स्थाई शिक्षक की नियुक्ति अभी तक नहीं हो पाई है। तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा विश्वविद्यालय की इस दयनीय हालत पर खामोश है। ।

उसने कहा की तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में वर्तमान कुलपति को 1 वर्ष का सेवा विस्तार पुनः प्रदेश सरकार के द्वारा दिया गया है, लेकिन सरकार विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के भविष्य के साथ लगातार खिलवाड़ कर रही है और विद्यार्थियों का भविष्य गेस्ट फैक्ल्टी के हाथों में दे कर सरकार अपनी जिम्मेवारियों से भाग रही है।

उसने ये भी कहा की तकनीकी विश्वविद्यालय में शिक्षकों व गैर शिक्षकों के लगभग 83 पद खाली हैं जिसके लिए विद्यार्थी परिषद का प्रतिनिधिमंडल पहले भी मंत्री से मिल चुका है। लेकिन मंत्री और प्रदेश सरकार के ऐसे उदासीन रवैये से तकनीकी विश्वविद्यालय में पढ़ने वाला विद्यार्थी आज भी स्थाई शिक्षकों की कमी महसूस कर रहे है।

उसने आरोप लगाया है की प्रदेश सरकार ने 3 वर्षों से तकनीकी विश्वविद्यालय में एक भी स्थाई अध्यापक की नियुक्ति नहीं की है और यह दर्शाता है कि छात्रों के भविष्य के प्रति प्रदेश सरकार की क्या भूमिका है और वह किस गैर जिम्मेदाराना तरीके से विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के भविष्य के साथ खेलने का काम कर रही है।

उसने कहा की अगर तकनीकी विश्वविद्यालय के अंदर अगर फीस की बात की जाए तो वह फीस प्राइवेट विश्वविद्यालय से कहीं अधिक है। तकनीकी विश्वविद्यालय लगातार छात्रों को लूटने का काम कर रहा है। क्योंकि प्रदेश सरकार के द्वारा 2011 से एक रुपए भी तकनीकी विश्वविद्यालय को अनुदान में नहीं दिया गया था जो कि इस विश्वविद्यालय के लिए दुर्भाग्यपूर्ण रहा। जबकि वर्तमान सरकार ने पिछले वर्ष से विश्वविद्यालय को 10 करोड़ आवर्ती अनुदान देने की घोषणा की थी लेकिन इस वर्ष उस 10 करोड़ में से 1 रुपया भी विश्वविद्यालय को नहीं दिया गया। यह विश्वविद्यालय निजी विश्वविद्यालयों की तरह छात्रों एवं अभिभावकों के पैसे से ही चलाया जा रहा है।

उसने सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द तकनीकी विश्वविद्यालय के अंदर रिक्त पड़े सभी अध्यापकों के पदों को भरा जाए व नए सत्र से पूर्व तकनीकी विश्वविद्यालय में शिक्षकों की नियुक्ति की जाए।

Continue Reading

Featured

वी वी की कक्षाओं में छत से टपक रहा पानी, खिड़कियों के शीशे टूटे हुए, पीने के पानी की भी नहीं है कोई सुविधा

HPU Law Department Roof Leaking

शिमला-आज हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय एसएफआई की लॉ फैकल्टी कमेटी ने विभाग की समस्याओं के मद्देनजर विभाग के अध्यक्ष सुनील देष्ट्टा को मांग पत्र सौंपा।

लॉ विभाग एसएफआई सचिव अमरीश का कहना है कि विभाग में टॉप फ्लोर में पानी का रिसाव हो रहा है लेकिन प्रशासन इसकी ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।छात्रों को टपकती छतो तथा पानी से तर कमरों में अपनी शिक्षा ग्रहण करनी पड़ रही है। छात्रों ने कहा कि सोशियोलॉजी विभाग की कक्षाओं की भी यही स्थिति है।

विभाग में छात्रों को कंप्यूटर लैब की सुविधा भी उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। क्लास रूम की खिड़कियों के शीशे टूटे हुए हैं।विभाग में एक्वागार्ड की उचित सुविधा नहीं है। छात्रों ने मांग कि है कि लॉ विभाग के हर फ्लोर पर एक एक्वागार्ड लगाया जाए।

फैकल्टी अध्यक्ष करण ने कहा कि विभाग में बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए एडमिशन देने की कवायद हो रही है जिसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विभाग ने पहले ही बहुत कम अंक लिए हुए छात्रों को एडमिशन दे दी है।अब बिना एंट्रेस एग्जाम एडमिशन देना तर्कसंगत नहीं है।

एस एफ आई ने कहा कि यदि इन मांगों पर जल्द कोई सकारात्मक पहल नहीं हुई तो विभाग के छात्रों को लामबंद कर आंदोलन का रास्ता इख्तियार किया जायेगा।

Continue Reading

Featured

विश्वविद्यालय में हॉस्टल से जबरन शिफ्ट करने पर फूटा छात्रों का गुस्सा, कहा कुलपति कमेटियों की आड़ में कर रहे प्रताड़ित

HPU Hostel Student Protest

शिमला-आज हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के वाई एस पी हॉस्टल के छात्रों ने प्रैस विज्ञप्ति जारी की। छात्रों ने कहा कि पिछले 29 जुलाई को विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रों को जबरन दूसरे हॉस्टल शिफ्ट करने का फरमान जारी किया गया था।

छात्रों ने आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय के कुलपति कमेटियों की आड़ में छात्रों को प्रताड़ित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे है। वाई एस पी हॉस्टल के छात्रों ने आज से पहले भी एडवाइजरी कम मॉनिटरिंग कमेटी के सभी सदस्यों को इस बारे में अवगत कराया था। लेकिन प्रशासन फिर भी छात्रों को कोई राहत देने की कवायद नहीं कर रहा था।आज वाई एस पी हॉस्टल के तमाम छात्रों ने कमेटी के अध्यक्ष डी एस अरविंद कालिया के ऑफिस के बाहर घेरा डाला।

छात्रों ने बताया कि सभी कमेटी के सदस्य भी भी मौजूद थे।छात्रों के आक्रोश को दबाने के लिए प्रशासन ने पुलिकर्मियों और क्यू आर टी को बुलाया गया लेकिन छात्र फिर भी वही डटे रहे।छात्रों का कहना है कि उन्हें भी मीटिंग में हिस्सा लेने के लिए बुलाया गया था लेकिन उनका पक्ष नहीं सुना गया।कॉफ्रेंस हॉल में हुई वार्ता पूरी तरह से विफल रही और इस वार्ता में कोई भी निर्णय नहीं लिया गया।उल्टे कमेटी के अध्यक्ष अरविंद कालिया ने छात्रों को ये कहकर धमकाया कि नियमों को रातो रात बदल दिया जाएगा।
HPU Hostel Student Protest 2

छात्रों ने कहा कि हॉस्टल शिफ्टिंग तानशाही का नमूना है जिसे बर्दाश्त नही किया जाएगा। प्रशासन पहले ही होस्टल को जबरन खाली करने की अधिसूचना जारी कर चुका है।गौरतलब है कि प्रशासन ये तुक दे रहा है कि नए छात्रों को एक हॉस्टल में रखा जाएगा।लेकिन वाई एस पी हॉस्टल की क्षमता 160 छात्रों की है, दूसरी तरफ नए छात्रों को हॉस्टल इस संख्या से ज्यादा अलॉट होगे। ऐसे में प्रशासन का तर्क बेबुनियाद है तथा किसी छुपी हुई साजिश के तहत ये फरमान जारी किया गया है।

छात्रों ने आरोप लगाया है कि यदि कमेटी के अध्यक्ष अरविंद कालिया निर्णय लेने के लिए कुलपति का इंतजार कर रहे है तो किस बात के लिए कमेटी के अध्यक्ष बने है। छात्रों ने कहा कि प्रशासन विश्वविद्यालय की छवि को खुद ही बदनाम करने पर तुला है।नए छात्रों को संशय है कि कहीं सीनियर छात्र सच में ही नए छात्रों को तंग करते होगे।लेकिन आज तक विश्वविद्यालय के इतिहास में रैगिंग का कोई भी मामला दर्ज नहीं है।छात्रों ने चेतावनी दी है कि वे किसी भी सूरत में हॉस्टल खाली नहीं करेगे चाहे उन्हे किसी भी हद तक जाना पड़े।

Continue Reading

Featured

vaccination guidline 21 june vaccination guidline 21 june
अन्य खबरे5 hours ago

प्रदेश में आज 809 टीकाकरण केंद्रों में एक लाख लोगों के टीकाकरण करने का लक्ष्य

शिमला- प्रदेश में कोवीड टीकाकरण की प्रक्रिया  21 जून, 2021  यानि आज सोमवार से फिर शुरू हो गयी है। इसके...

Kotkhai-Gudiya-rape-and-murder-case-judgement Kotkhai-Gudiya-rape-and-murder-case-judgement
अन्य खबरे1 day ago

कोटखाई गुड़िया दुष्कर्म और हत्या मामले के दोषी नीलू को हुई उम्र कैद, पर परिजन फैंसले से नाखुश, कहा असली गुनेहगार अभी भी बहार

शिमला- प्रदेश के शिमला जिले के कोटखाई में हुए गुड़िया दुष्कर्म और हत्या के मामले का फैसला 18 जून 2021...

DGP himachal pradesh DGP himachal pradesh
अन्य खबरे1 day ago

मास्क न लगाने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर डीजीपी के खिलाफ शिकायत दर्ज

शिमला- हिमाचल प्रदेश के डीजीपी के खिलाफ मास्क न लगाने तथा सोशल डिस्टन्सिंग का पालन नहीं करने की शिकायत की...

hp education directorate photo hp education directorate photo
अन्य खबरे4 days ago

शिमला के निजी स्कूल पर निदेशक के पत्र का झूठा जबाव देकर शिक्षा विभाग को गुमराह करने का आरोप

शिमला- दयानंद पब्लिक स्कूल पर शिक्षा विभाग को गुमराह करने का आरोप लगा है। आरोप है कि  स्कूल ने बिना...

tuttikandi shimla tuttikandi shimla
अन्य खबरे4 days ago

टूटीकंडी ज़ू रोड़ पर मंडरा रहा दुर्घटना होने का खतरा, एक साल से धंस रही सड़क, पर नगर निगम को नहीं कोई चिंता

शिमला- प्रदेश में बरसात ने प्रवेश कर लिया है। बरसात के साथ कई आपदायें आती है जिनमे भू स्खलन और सड़कों...

damage to crops in himachal pradesh damage to crops in himachal pradesh
अन्य खबरे7 days ago

 प्रदेश में हुई बारिश,ओलावृश्टि,और तूफान से कई फलदार फसलों, घरों को भारी नुकसान, पर किसानों, बागवानों को नहीं मिला कोई मुआवजा

शिमला- प्रदेश में हुई भरी बारिश,ओलावृश्टि,और तूफान से कई फसलों को काफी नुकसान हुआ है। इससे फलदार फसलों जैसे सेब,पलम,आड़ू,खुमानी अदि...

mansoon june 2021 mansoon june 2021
अन्य खबरे1 week ago

हिमाचल पहुंचा मानसून, प्रदेश में 19 जून तक खराब रहेगा मौसम, ऑरेंज अलर्ट जारी

शिमला-इस साल सामान्य से 13 दिन पहले दक्षिण पश्चिम मानसून ने हिमाचल में प्रवेश कर लिया है। शनिवार रात से...

new-vaccination-schedule-in-himachal-pradesh new-vaccination-schedule-in-himachal-pradesh
अन्य खबरे1 week ago

18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के लिए अब होंगे पांच टीकाकरण सत्र, पंजीकरण के समय में भी परिवर्तन

शिमला- हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के लिए राज्य सरकार द्वारा खरीदी गई...

virbhadra singh death rumour virbhadra singh death rumour
अन्य खबरे1 week ago

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन की अफवाह फैलाने पर पुलिस ने शरारती तत्वों को दी चेतवानी

शिमला-विधायक विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया में उनके पिता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के स्वास्थ्य के बारे में निराधार अफवाहों...

hp cabinet decesion june11 hp cabinet decesion june11
अन्य खबरे1 week ago

हिप्र मंत्रिमण्डल के निर्णय: हिमाचल मे धारा 144 और कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता हटी, बसें चलाने को मंजूरी

शिमला – आज हिमाचल प्रदेश सर्कार की मंत्रिमंडल की बैठक में   कई अहम निर्णय लिए गए।  दुकानें खोलने का समय...

Popular posts

Trending