कोटखाई में छात्रा से दुराचार व हत्या मामले को लेकर एसएफआई का प्रदर्शन

0
338
HP-University-SFI-Protest

शिमला- एसएफआई जिला कमेटी शिमला ने आज उपायुक्त कार्यालय के बहार धरना प्रदर्शन किया जिसमे कोटखाई में 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा के दुष्कर्म के बाद बेरहमी से की गयी हत्या के दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग की।

छात्र संगठन ने कहा कि यह एक अवमानवीय घटना है और मानवता के ऊपर बहुत बड़ा कलंक है। और इस घटना ने दिल्ली निर्भया कांड को ताजा कर दिया है। एसएफआई राज्य अध्यक्ष विवेक राणा,रुचिका बजीर और रोनी भलूनी ने मौजूद छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि लगभग2 -3 वर्षो से हिमाचल प्रदेश में इस तरह की घटनाएं बढ़ती जा रही है जो प्रदेश सरकार और कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़ा करती हैं । कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है जिसके कारण इस तरह की घटनाओ को काफी आसानी से अंजाम दिया जा रहा है।

Kotkhai-Girl-Rape-Case

छात्र संगठन का कहना है कि आज प्रदेश के अंदर जहाँ एक ओर महिलाओं, छात्रों, किसानों, नौजवानो, मजदूरों का शोषण काफी तेजी से बाद रहा है, वहीं दूसरी और प्रदेश सरकार द्वारा गुंडाराज, वन माफिया, शराब माफिया, जैसे लोगों को खुला संरक्षण दिया जा रहा है। जो सीधे तौर पर प्रदेश सरकार की नाकामी व कायरता को दर्शाता है।

HPU-Sfi

एसएफआई ने कहा कि वह मांग करती है कि इस घटना के दोषियों को जल्द से जल्द पकड़ा जाये तथा उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाये। छात्र संगठन ने यह भी मांग की है कि प्रदेश में चरमराई कानून व्यवस्था को सुचारु रूप से चलाया जाये।

चेतावनी देते हुए एसएफआई ने कहा है कि यदि इन मामलों को जल्द से जल्द अमलीजामा नहीं पहनाया गया तो उग्र प्रदर्शन किया जायेगा जिसका ज़िम्मेवार प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन होगा।

आपको बता दें कि हिमाचल के जिला शिमला की तहसील कोटखाई की एक पंचायत में दसवीं कक्षा की छात्रा का शव 6 जुलाई को नग्न हालत में जंगल से बरामद हुआ था। छात्रा 4 जुलाई को घर नहीं पहुंची थी,व 5 जुलाई को भी छात्रा लापता थी। 6 जुलाई को सुबह जंगल में किसी व्यक्ति ने लापता हुई छात्रा का शव देखा और पुलिस को इसकी सुचना दी।

kotkhai-girl-rape-and-murder
चित्र: दिव्य हिमाचल

पुलिस ने पुष्टि की है कि छात्रा से गैंगरेप हुआ है और उसकी हत्या गला घोंट कर की गई थी। इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हुआ है। उसमें एक खुलासा यह भी हुआ कि छात्रा ने बचने की बहुत कोशिश की थी लेकिन वह खुद को बचा नहीं सकी। पुलिस ने इस मामले की जांच को तीन टीमों का गठन किया है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS