तस्वीरें: रिवालसर झील में प्रदुषण और हज़ारो की संख्या में मछलियों के मरने से मचा हाहाकार

0
300
rewalsar lake pollution

मंडी- विश्व प्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटक नगरी रिवालसर में झील के पानी का रंग बदलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। अभी तक पानी के रंग बदलने के कारणों का पता नहीं चल सका है। इस मामले को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चांए हो रहे हैं। इस मामले को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चांए हो रहे हैं। आलम यह है कि हजारों की तादाद में मछलियां मरने लगी हैं।

Dead Fish

प्रशासनिक अमला और मत्स्य विभाग के अधिकारी मौके पर डटे हुए हैं और यहां से मरी हुई मछलियों को बोट के सहारे बाहर निकाल कर डम्प करने का कार्य किया जा रहा है।

वीडियो

विभाग के अनुसार बीती शाम को मतस्य विभाग की टीम ने पानी के सैंपल ले लिए हैं और उन्हें जांच के लिए लैब भेजा गया है जिसकी रिपोर्ट दो से तीन दिनों में आ सकती है।

Polluted Rewalsar lake

स्थानीय लोगों ने रिवालसर झील के रखरखाव में कमी को ही इस हादसे की वजह बताया है और सरकार और प्रशासन से जल्द ही इस बारे में कडे कदम उठाने का आग्रह किया है ताकि अभी भी मौत से जूझ रहीं हजारों मछलियों और झील को बचाया जा सके।

Fishes died in Rewalsar lake

तीनों धर्मों के श्रद्धालुओं में मचा हड़कंप

मंगलवार देर शाम यहां ऑक्सीजन लेने के लिए मछलियां झील के तट पर आई और देखते-देखते रिवालसर के स्थानीय लोग इन्हें बचाने के लिए आगे आए। लेकिन साफ पानी न मिलने के चलते मछलियों को समय रहते नहीं बचाया जा सका।

Rewalsar lake Mandi
चित्र जय कुमार/ ट्रिब्यून

बुधवार सुबह जैसे ही लोगों ने झील की ओर रुख किया तो वहां झील किनारे हजारों मछलियां अपने प्राण त्याग चुकी थी। इस घटना के बाद हिंदू, बौद्ध, सिख तीनों धर्मों के श्रद्धालुओं में हड़कंप मच गया है। बताया जाता है कि इन मछलियों के साथ इन धर्मों के श्रद्धालुओं की गहरी आस्था रहती है और यहां इन मछलियों को खाद्य सामग्री खिलाकर पुण्य कमाने की परंपरा रही है।

Rewalsar lakePollution

जिंदगी और मौत से जूझ रही मछलियां

इस बार बैसाखी मेले से लेकर अभी तक देश-विदेश से पर्यटक यहां पहुंच चुके हैं। यह पहला मौका है जब इतनी भारी संख्या में मछलियां झील का पानी अचानक पीले रंग में बदल गया। सूचना मिलते ही स्थानीय प्रशासन मौके पर पहुंच गया है और जो मछलियां जिंदगी और मौत से जूझ रही हैं उन्हें बाहर निकालने के लिए जद्दोजहद की जा रही है।

fishesh died in Rewalsar lake Mandi

बल्ब उपमंडल के एसडीएम सिद्धार्थ आचार्य ने भारी संख्या में मछलियों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मछलियों को बचाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं और उन्हें तुरंत किसी दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया जा रहा है।

Polluted Himachal lake

Holy Lake Rewalsar

Dead Fish in Rewalar lake

Mandi Polluted lake

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS