हिमाचल का पहला मामला, मंडी में 40 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा जज

0
191
mandi-acjm-caught
चित्र:पंजाब केसरी

मंडी- हिमाचल में पहली बार एक ऐसा कारनामा सामने आया है जिससे प्रदेश का नाम तो डूबा ही साथ ही साथ न्याय की गुहार लगाने व उसपर भरोसा रखने वली आम जनता भी इस बात से हैरान है। हिमाचल के इतिहास में घटना पहले बार हुई है जब एक जज को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया है। यह सनसनीखेज मामला हिमाचल के जिला मंडी में सामने आया है। मंडी की एक कोर्ट में कार्यरत अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (एसीजेएम) को 40 हजार रुपए की रिश्वत के साथ पकड़ा गया है। जज ने एक मामले को निपटाने के लिए एक व्यक्ति से 40 हजार रुपए की डिमांड की थी। जैसे ही जज व्यक्ति से ये पैसे लेने लगा कि विजिलेंस की टीम मौके पर पहुंच गई। जज को रिश्वत के पैसों के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया गया है ।

विजिलेंस की टीम ने मंगलवार देर शाम जज को हिरासत में लिया है। हाईकोर्ट से अनुमति मिलने के बाद विजिलेंस की टीम ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया। जज से पूछताछ की जा रही है।

चैंबर में बुलाकर मांगी थी रिश्वत, ये था पूरा मामला

विजिलेंस के अनुसार इस जज ने चैक बाउंस के मामले में प्रार्थी से इन पैसों की डिमांड की थी। इस व्यक्ति पर एनआई एक्ट के तहत लाखों रुपए के कई केस चल रहे थे। जज ने इन्हीं मामलों को जल्द निपटाने के लिए कुछ महीने पहले इस व्यक्ति को अपने चैंबर में बुलाया

यहां उससे 40 हजार रुपए की मांग की गई। कहा गया कि उससे संबंधित मामले जल्द निपटा दिए जाएंगे। विजिलेंस के अनुसार जज ने व्यक्ति को अपना मोबाइल नंबर भी दिया और उस पर बात करने को कहा।

जब पैसे नहीं दिए तो फिर किया कॉल

जब प्रार्थी ने काफी समय बाद भी पैसे नहीं दिए तो जज ने फिर इसे कॉल किया। कहा कि देर शाम तक उसे पैसे भिजवा दें। इस पर प्रा‌र्थी ने डीआईजी विजिलेंस अरविंद शारदा से संपर्क किया और पूरा मामला बताया।

इसके बाद विजिलेंस की एक स्पेशल 14 सदस्यीय टीम बनाई गई। बताया जा रहा है कि कार्रवाई से पहले हाईकोर्ट से भी अनुमति ली गई। इसके बाद विजिलेंस ने अपना जाल बिछा दिया।

फिर रंगे हाथ पकड़ा गया जज

शिमला से इस कार्रवाई का जिम्मा मंडी विजिलेंस ब्यूरो को दिया गया था। टीम ने जाल बिछाया और जैसे ही जज के सरकारी आवास पर पहुंचे तो वहां रिश्वत लेते उन्हें रंगे हाथ पकड़ लिया।

विजिलेंस के अनुसार बुधवार को जज को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उनसे पूछताछ भी की जा रही है। यह जज मनाली में भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। न्यायपालिका से जुड़ा यह मामला गंभीर है और हाईकोर्ट भी इसमें संज्ञान ले सकता है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS