मंत्री जीएस बाली आपसी फूट के पहले शिकार नहीं, पहले भी कांग्रेस के कई मंत्री पी चुके हैं कड़वा घूँट:भाजपा

0
160

शिमला- हिमाचल प्रदेश भाजपा प्रदेश के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, पूर्व मंत्री व मुख्य प्रवक्ता डा0 राजीव बिन्दल, पूर्व मंत्री किशन कपूर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर धर्मशाला में आयोजित रैली के दौरान कांग्रेस नेताओं की आपसी फूट पर निशाना साधा है भाजपा का कहना है के इस दौरान मंच पर किसे बैठाना है या किसे नहीं बिठाना है यह भले ही कांग्रेस पार्टी का आंतरिक मामला हो परन्तु वरिष्ठ मंत्री जीएस बाली को मंच पर न बैठाकर जिस तरह से उनका अपमान किया है उससे स्पष्ट हो गया है कि अब कांग्रेस लोकतान्त्रिक पार्टी नहीं बल्कि व्यक्ति विशेष के इशारों पर चलने वाले कुछ लोगों का क्षेत्रीय दल बनकर रह गया है।

भाजपा नेताओं ने कहा कि जिस तरह से एक वरिष्ठ मंत्री का अपमान कांग्रेस के नेताओं द्वारा ही किया गया वह केवल पहला मामला नहीं है इससे पूर्व भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनन्द शर्मा सहित कई अन्य नेता अपमान के इन घूण्टों को पी चुके है। वर्तमान कांग्रेस पार्टी ऐसे लोगों का दल बनकर रह गया है जो व्यक्तिगत स्वार्थों और व्यक्ति विशेष के इशारे पर लोकतान्त्रिक परम्पराओं का सम्मान करना अपनी शान के खिलाफ समझते है। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को भी इस बात को समझने की आवश्यकता है कि जहां वरिष्ठ नेताओं का ही सम्मान नहीं होता वहीं आम कार्यकर्ता की क्या हालत होगी।

भाजपा ने यह भी कहा कि वरिष्ठ मंत्री जीसी बाली का यह ब्यान भी समझ से परे है कि वह अपने अपमान की शिकायत भी उन्हें लोगों से करना चाह रहे हैं जिनके इशारों पर यह लज्जित करने वाली घटना हुई है। शायद वह न्याय के नियमों को नहीं जानते हैं। अपमान के कड़वे घूॅंट पीने से वेहतर है कि वह अपने इस अपमान के प्रति चुप्पी साध लें क्योंकि वर्तमान में वह जिस दल के नेता हैं वहां केवल एक व्यक्ति की तानाशाही के अतिरिक्त और कुछ नहीं है।

भाजपा नेताओं ने चार्जशीट पर कांग्रेस नेताओं के ब्यानों पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अपने विरूद्ध लगे आरोपों को नकारने से वेहतर है कि वह इन आरोपों की सत्यता की जाॅंच किसी निर्वतमान न्यायधीश अथवा स्वतन्त्र जाॅंच एजैंन्सी से करवाएं। भाजपा ने कांग्रेस नेताओं के उन ब्यानों की याद दिलवाई जो जार्चशीट आने से पूर्व कांग्रेस नेताओं दिए थे और कहा था कि आरोप झूठे होने पर वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे उनका ऐसा करने से निश्चित रूप में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता परन्तु स्वयं कांग्रेस नेता यह जानते हैं कि भाजपा के लगाए आरोपों में पूरी तरह से सत्यता है।

ऐसे में किसी भी आरोप की जाॅंच न्यायालय द्वारा होगी तो वह अवश्य कानून की गिरफ्त में होंगे। ऐसे में कांग्रेस नेता मात्र ब्यानवाजी से काम चलाकर जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS