कुफरी की खस्ताहाली,गंदगी व पर्यटकों से दु‌र्व्यवहार पर हाई कोर्ट सख्त,मुख्य सचिव सहित अन्य अधिकारी हुए तलब

0
657
kufri-horse-riding-1
चित्र: फाइल फोटो/vardaan shimla

घोड़ों को चलाने के लिए कारोबारियों ने अधिकतर नेपालियों के नाबालिग बच्चों को काम पर रखा है जो पर्यटकों के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं।

शिमला- हिमाचल प्रदेश के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कुफरी में स्थानीय कारोबारियों के घोड़ों द्वारा फैलाई जा रही गंदगी व पर्यटकों के साथ आए दिन हो रहे दु‌र्व्यवहार से उत्पन्न कानूनी अव्यवस्था से संबंधित मामले में हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव सहित गृह सचिव, शिमला के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, डीएफओ व स्पेशल डेवलपमेंट अथॉरिटी कुफरी के निदेशक को तलब किया। इन प्रतिवादियों को 19 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया गया है।

पढ़ें:लोकप्रिय पर्यटन स्थल कुफरी कचरा के ढेर में तब्दील

प्रदेश हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मंसूर अहमद मीर व न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान की खंडपीठ ने जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान यह आदेश पारित किया। शिमला शहर के समीप प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कुफरी में घोड़ों द्वारा रोजाना गंदगी फैलाई जा रही है। इस गंदगी व प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण अव्यवस्था का आलम है। घोड़ों की गंदगी से इस क्षेत्र में आम जनता व पर्यटकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुफरी निवासी राकेश मेहता ने हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर उपरोक्त क्षेत्र की समस्याओं से अवगत करवाते हुए सरकार व स्थानीय प्रशासन को जरूरी निर्देश दिए जाने की गुहार लगाई थी।

kufri-garbage
चित्र:. फाइल फोटो/हिमाचल वॉचर
प्रार्थी के अनुसार घोड़ों द्वारा उपरोक्त क्षेत्र में फैलाई जा रही गंदगी से जनता व पर्यटकों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। संबंधित अधिकारी इस बात की जानकारी होते हुए भी उपयुक्त कदम नहीं उठा रहे हैं। सरकार की ओर से भी इस क्षेत्र के विकास के पर करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं मगर इस क्षेत्र में न तो पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए और न ही गंदगी से छुटकारा दिलाने के लिए कार्य हुए। प्रार्थी ने आरोप लगाया है कि घोड़ों को चलाने के लिए कारोबारियों ने अधिकतर नेपालियों के नाबालिग बच्चों को काम पर रखा है जो पर्यटकों के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं। मामले पर सुनवाई 19 दिसंबर को होगी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS