सावधान! आपके मोबाइल की स्क्रीन पर 26095343130 या 260953543142 नंबर से कॉल आ रही है तो उसे रिसीव न करें। यह कॉल नाइजीरिया से साइबर क्रिमिनल कर रहे हैं। यह प्रीमियर कॉल है।

कॉलर आपके साथ हिंदी में बात करेगा और आपके साथ लंबी बात करने की कोशिश करेगा। अगर आप कॉल रिसीव करते हैं और कॉलर से बात करते हैं तो प्रति मिनट आपको तीन सौ रुपये का चूना लगेगा। इसकी जानकारी आपको नहीं होगी।

इस तरह के सैकड़ों मामले रोजाना आ रहे हैं। इनके शिकार आईएएस अफसर से लेकर पुलिस वाले भी हो चुके हैं। वीरवार को प्रदेश पुलिस मुख्यालय के साइबर सैल ने अलर्ट जारी कर मोबाइल उपभोक्ताओं से सतर्क रहने की अपील की है।

साइबर सैल में रोजाना इस तरह की दर्जनों शिकायतें आ रही हैं। हद तो तब हो गई जब इन शातिरों की कॉल प्रदेश पुलिस मुख्यालय में तैनात कर्मचारियों को भी आने लगे। ये शातिर दो तरह से काम कर रहे हैं। किसी के मोबाइल पर केवल मिस कॉल देंगे अगर किसी ने कॉल वापिस कर दी तो भी प्रति मिनट 400 रुपये बिल में जुड़ जाएगा। अगर किसी ने कॉल रिसीव कर ली तो भी उपभोक्ता का लुटना तय है।

पोस्टपेड पर आ रही है कॉल

शातिरों का नेटवर्क जबरदस्त है वह केवल पोस्टपेड नंबर के उपभोक्ताओं को ही अपना निशाना बना रहे हैं क्योंकि उपभोक्ता को मौके पर पता नहीं चल पाता कि उसके साथ ठगी हुई है। ठगी का पता तब चलेगा जब भारी भरकम बिल सामने होगा। उसके बाद जब वह संबंधित मोबाइल कंपनी से इस बारे में बात करते हैं तब पता चलता है कि उक्त नंबर से बात हुई थी और जिस नंबर से बात हुई उसने प्रीमियम चार्ज किया है।

मोबाइल कंपनी के खाते में जा रहा है सारा पैसा

नाइजीरिया में जिस मोबाइल कंपनी के यह नंबर है सारा पैसा प्रीमियम चार्ज के तौर पर कंपनी के खाते में जाता है। साइबर सैल की अब तक की तफ्तीश के मुताबिक कंपनी और शातिरों का इसमें 50-50 फीसदी हिस्सेदारी रहती है। ऐसे नंबरों पर अंकुश लगा पाना फिलहाल संभव नहीं है, लिहाजा उपभोक्ताओं को जागरूक करने की जरूरत है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS