मंडी के युवक ने सरकारी नौकरी न मिलने के मानसिक तनाव में डिग्रियां जला खुद को लगा ली आग

0
363

मंडी-हिमाचल के जिला मंडी के जोगिंद्रनगर उपमंडल की चलाहरग पंचायत में लंबे समय से सरकारी नौकरी न मिलने से परेशान एक युवक ने मिट्टी का तेल छिड़क कर आत्मदाह करने की कोशिश की। युवक के कमरे से उसके जले हुए सर्टिफिकेट भी मिले हैं। झुलसे युवक को परिजनों ने प्राथमिक उपचार के लिए जोगिंद्रनगर अस्पताल लाया, जहां उसे टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। युवक के इस कदम से हर कोई स्तब्ध है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आत्महत्या की कोशिश के कारणों की जांच शुरू कर दी है।

हालांकि, पीड़ित के भाई ने बताया कि सरकारी नौकरी न मिलने से उसका भाई परेशान रहता था। पुलिस के अनुसार चलाहरग निवासी 34 वर्षीय युवक ने अपने कमरे में खुद पर मिटटी का तेल छिड़क कर आग लगा ली। इससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। युवक के चिल्लाने की आवाज सुनकर मौके पर परिजन इकट्ठे हुए और उसे जोगिंद्रनगर अस्पताल ले गए।

यहां युवक की हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे प्राथमिक उपचार के बाद टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर कर किया। टांडा मेडिकल कॉलेज में झुलसे युवक का इलाज चल रहा है। युवक के भाई बृजमोहन ने बताया कि उसका भाई पिछले कुछ सालों से नौकरी न मिलने से परेशान चल रहा था।

भाई ने नौकरी के लिए कई लिखित परीक्षाएं पास की थी, लेकिन साक्षात्कार में वह पास नहीं हो पाया। इससे वह कुछ वर्षों से डिप्रेशन में था। उसका उपचार भी चल रहा था। वहीं, इस बीचउसने मिट्टी का तेल खुद पर डालकर आत्महत्या करने की कोशिश की। युवक ने वर्ष 2001-02 में ग्रेजुएशन की थी। चलारग टू वार्ड के पूर्व पंच अरुण ने बताया कि मौके पर युवक के जले हुए सर्टिफिकेट मिले हैं।

युवक के इस कदम से सभी हैरान हैं। उधर, बस्सी पुलिस चौकी के प्रभारी व जांच अधिकारी राजेश ने बताया कि चलारग क्षेत्र में युवक के तेल छिड़क कर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। मामला दर्ज कर लिया गया है। आत्महत्या करने के प्रयास के कारणों का पुलिस पता लगा रही है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS