धर्मशाला के 32.5 और शिमला के 85 अंक, फिर भी शिमला स्मार्ट सिटी में शामिल नहीं: संजय चौहान

0
797
Smart city shimla

शिमला- स्मार्ट सिटी मामले में हिमाचल पावर स्टेरिंग कमेटी की प्रशासनिक अधिकारियों को करारी फटकार के बाद सम्बंधित अधिकारी अब भी गलत आंकड़े देने में बाज़ नहीं आ रहे हैं! ये आरोप शिमला के मेयर संजय चौहान ने उन अधिकारियों पर लगाए हैं जो स्मार्ट सिटी के लिए प्रदेश में बनाई गई हाई पावर स्टेरिंग कमेटी के सदस्य हैं!

दरसल हाई कोर्ट के आदेश के बाद हिमाचल से स्मार्ट सिटी के नाम पर मुहर लगाकर केंद्र को भेजने की कवायद एक बार फिर से शुरू की गई थी! इसके लिए शिमला में एक बैठक हुई जिसमें शिमला और धर्मशाला के निकायों द्वारा अपने अपने शहर को स्मार्ट सिटी में शामिल करने के लिए आंकड़े दी गए थे! बकौल संजय चौहान इस दफ्फा धर्मशाला को 72.5 अंक दी गए ओर शिमला के अंक 77.5 थे! लेकिन इन अंकों में भारी गडबडी है!

संजय चौहान ने आरोप लगाया की धिमला को ये नम्बर 100 में से दी गए हैं जबकी धर्मशाला को 80 में से उन्होंने कहा की धर्मशाला में स्मार्ट सिटी की औपचारिकताओं के मुताबिक़ वहाँ के लिए केवल 32.5 अंक बनते हैं जबकी शिमला के कुल अंक 85 बनते हैं!

संजय चौहान ने कहा की बैठक में उन्होंने इस मुद्दे पर उन्होंने हाई पावर स्टेरिंग कमेटी की बैठक में अपना विरोश दर्ज किया था लेकिन अधिकारियों ने उनके द्वारा पेश की गयी सभी दलीलों को खारिज करते हुए अपने फैसले को बरकार रखने की बात कही! इसपर अब संजय चौहान ने सभी विकल्प खुले होने के साथ साथ हाई कोर्ट का डरवाना खटखटाने की बात कही है!

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS