गंभीर नहीं नेशनल हाईवे विंग , मुख्यमंत्री से गुहार

0
359
(012)Yadgaar

(012)Yadgaar

​मौत के कुएं पिछले कई वर्षों से नंगे ,गंभीर नहीं नेशनल हाईवे विंग! कई बार मीडिया ने उठाया मामला फिर भी नहीं जाएगा विभाग
रेलिंग व् डन्गे तुरंत लगाए जाएँ सड़क दुर्घटना होने पर विभाग के इंजीनियरों की जिम्मेवारी सुनिश्चित की जाए – मांग

विकास समिति टूटू ने नेशनल हाईवे शिमला नेशनल हाईवे सर्कल के अधीन सोलन डिवीजन में आने वाली सड़कों के सही समय पर उचित रख-रखाव न करने का आरोप लगाया है! समिति के अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की उनकी समिति एन-एच -88 व् 22 के टूटू व् शिमला के आसपास बहुत ही जानलेवा ब्लैक स्पाटों को वर्ष 2006 से रेलिंग या डन्गे लगा कर ठीेक करने की मांग कर रही है परंतु विभाग के सोलन नेशनल हाईवे विंग ने उन्हें पिछले 6-7 वर्षों में ठीक करने की जहमत नहीं उठाई है ! नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की उन्होंने जब भी नेशनल हाईवे के अधिशासी अभियंता व् सहायक अभियंता शालाघाट से इस विषय में बात की है तो वह मात्र चिकनी -चुपड़ी बातें कर पिछले तीन वर्षों से आश्वासन ही दिए जा रहे हैं ! उन्होंने कहा की इस डिवीजन /सब -डिवीजन में पिछले आठ वर्षों से फील्ड अधिकारियों के एक स्थान से दूसरे स्थान को तबदील होने और आने जाने का सिलसिला जारी है परंतु खासकर नेशनल हाईवे के शिमला सर्कल के अधीन कार्य कर रहे किसी भी इंजीनियर ने शिमला के आसपास बताये गए ब्लैक स्पाटों को ठीक करने के लिए गंभीरता नहीं दिखाई है जबकि अनेकों दुर्घटनाये इन चिन्हित किये गए स्थलों पर हो चुकी हैं और कई लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा !

उन्होंने कहा की विभाग ने पिछले 8 वर्षों से इन ब्लैक स्पाटों को ठीक करने तक के प्रांकलन भी अभी तक केंद्र सरकार को नहीं भेजे हैं जिससे कार्यों को पूरा करने की उम्मीद जाग सके !

(227) Nr.Barrier NH-22

नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि उनकी समिति के सदस्य हिमाचल के किसी भी कोने की सड़क के ब्लैक स्पॉट जो उनके ध्यान में आते हैं या लाये जाते हैं उन्हें विभाग व् सरकार के ध्यान में लाते हैं और कुछ फील्ड इंजीनियर इन्हे गंभीरता से लेकर तुरंत ठीक करवा देते हैं और कुछ नजरअंदाज कर देते हैं !

समिति अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने नेशनल हाईवे के फील्ड इंजीनियरों के गंभीर न होने पर हिमाचल में मात्र दो नेशनल हाईवे सर्कल शिमला व् शाहपुर में से शिमला सर्कल को जीरो और शाहपुर सर्कल को हीरो होने का आंकलन किया है ! उन्होंने कहा की शाहपुर सर्कल के अधीन नम्होल से कांगड़ा तक की सड़क का रख-रखाव व् विकास कार्य उचित किया जा रहा है जबकि शिमला सर्कल के अधीन दाड़लाघाट -कराड़ाघाट सड़क को अभी तक भी चौड़ा करने की जहमत नहीं उठाई है ! समिति ने कहा की प्रैस बिल्डिंग के नजदीक चक्कर के पास तीखे मोड़ पर विभाग ने रेलिंग का कुछ भाग न लगा कर सीधे तौर पर किसी न किसी की मौत को बुलावा दिया है !
-नागेन्द्र गुप्ता

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS