शिक्षक भर्ती घोटाले में ओमप्रकाश चैटाला और अजय चैटाला को दस साल की कैद

0
368
om-prakash-chautala

om-prakash-chautala-ahay-chautala

“शिक्षक भर्ती घोटाले में शामिल सभी 55 आरोपियों को रोहिणी कोर्ट ने सुनाई सजा , जिसमें हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चैटाला और अजय चैटाला को 10 साल की कैद की सजा सुनाई गई है अन्य एक दोषी को पांच व शेष 45 दोषियों को चार साल तक की सजा सुनाई गई है”

शिक्षक भर्ती घोटालें में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चैटाला को और उनके बेटे अजय चैटाला को अदालत ने 10 साल की कैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही दो आईएएस और एक विधायक समेत पांच लोगों को दस साल और अन्य दोषियों को चार से पांच साल की कैद की सजा सुनाई गई है।

“क्या था मामला”

सीबीआई ने 2004 में मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चैटाला समेत 62 आरोपियों के खिलाफ 1999-2000 में हरियाणा के 18 जिलों में 3206 जेबीटी शिक्षकों की भर्ती में नियमों को ताक पर रखते हुए मनचाहे लोगों की भर्ती की गई, जिसमें सरकार ने भर्ती की जिम्मेदारी कर्मचारी चयन आयोग से वापिस ले कर जिला स्तर की समितियों को सौंप दी थी और फर्जी साक्षात्कार के आधार पर उम्मीदवारों की चयन सूची तैयार कर ली गई थी , और इसके लिए उम्मीदवारों से 3 से 5 लाख की रिश्वत ली गई थी। नियुक्ति में ओम प्रकाश चैटाला और अजय चैटाला ने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया था। अजय चैटाला उस समय भिवानी से सांसद थे और उनके लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवारों को घोटालें में प्राथमिकता दी गई थी ।

इस पुरे मामले में 55 लोगों को दोषी करार दिया गया है। जिन्हें अदालत में आज सजा सुनाई गई है। वहीं आज कोर्ट के बाहर चैटाला समर्थकों बड़ी संख्या में एकत्र हो गए और उनके समर्थन में नारेबाजी करने लगें, समर्थकों ने जबरन अदालत परिसर में घुसने का प्रयास किया जिससे पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने के साथ ही सर्मथकों की भीड़ को इधर -उधर करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS