रोहतांग पास जाने वाले पर्यटकों के लिए ‘ऑनलाइन परमिट’ की सुविधा शुरू, पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर मिलेगा परमिट

0
777
Online Permit for Rohtang Pass
फाइल चित्र: Soumya Chakraborti

कुल्लू- गर्मी की छुट्टियों में रोहतांग पास घूमने की इच्छा रखने वालों के लिए अच्छी खबर है। इस बार रोहतांग पास जाने वाले पर्यटकों के लिए ‘ऑनलाइन परमिट’ सुविधा शुरू की गई है। ये परमिट पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर मिलेंगे। नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेशों के बाद हिमाचल सरकार ने पहली बार गुलाबा व कोकसर में ‘हाईटैक बैरियर’ स्थापित किए हैं। ये चैक प्वाइंट्स सैलानियों की संख्या को सीमित करने के लिए बनाए गए हैं। जिला प्रशासन के मुताबिक इस बार 800 पैट्रोल व 400 डीजल के वाहन ही रोजाना दोनों चैक बैरियरों को क्रॉस कर पाएंगे।

लाहौल व लद्दाख जाने के लिए अलग से लेना होगा परमिट

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक गुलाबा व कोकसर में सभी वाहनों की जानकारी कम्प्यूटर में फीड की जाएगी ताकि परमिटों के दुरुपयोग को रोका जा सके। इसके अलावा लाहौल व लद्दाख जाने के नाम पर रोहतांग पास घूमने वालों पर भी सख्ती रहेगी। अधिकारियों का कहना है कि लाहौल व लद्दाख जाने वाले वाहनों को अलग से परमिट लेना अनिवार्य किया गया है।

बैरियरों में तैनात स्टाफ चैक करेगा परमिट

एसडीएम मनाली हेमराज बैरवा ने कहा कि दोनों बैरियरों में तैनात स्टाफ इंटरनैट के जरिए वाहनों के परमिटों को चैक करेगा, साथ ही यह भी सावधानी बरतेगा कि लाहौल व लद्दाख के नाम पर सैलानी रोहतांग पास में प्रवेश न करें। उन्होंने कहा कि एनजीटी ने राज्य सरकार को निर्देश जारी किए थे कि इन दोनों प्वाइंट्स को हाईटैक सुविधाओं से जोड़ा जाए। इन आदेशों की अनुपालना करते हुए ही राज्य सरकार ने इस दिशा में कदम बढ़ाया है।

आदेशों के उल्लंघन पर ब्लैक लिस्ट होंगे वाहन

एसडीएम ने कहा कि प्रशासनिक अमला एनजीटी के आदेशों को लेकर गंभीर है और इन आदेशों की उल्लंघना करने वाले वाहनों को ‘ब्लैक लिस्ट’ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ब्लैक लिस्ट होने पर ऐसे वाहनों को भविष्य में बैरियर प्वाइंट्स क्रॉस करने की अनुमति नहीं मिलेगी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS