हिमाचल और देश की जनता के लिए निराशाजनक है 2017 का बजट:कांग्रेस

0
219
Budget session
चित्र:इंडियन एक्सप्रेस

हिमाचल के संदर्भ की बात है तो हिमाचल के लिए बजट में कुछ भी नही है, तथा बजट से प्रदेश के हिस्से में निराशा आई है और बजट से प्रदेश की जनता को जो उम्मीदे थी उन्ह उम्मीदो पर केन्द्र सरकार ने पानी फेर दिया है।

शिमला- हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने केन्द्र सरकार द्वारा संसद में पेश 2017-2018 के आम बजट को देश व देश की जनता के लिए निराशाजनक बताया है। हिमाचल कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं चैयरमैन कांग्रेस मीडिया विभाग नरेश चैहान ने कहा कि वित मंत्री अरूण जेटली द्वारा संसद में पेश किया गया आम बजट निराशाजनक है और इस बजट मे वित मंत्री द्वारा मात्र आंकड़ों को पेश किया गया है।

कांग्रेस नें कहा कि बजट में कोई भी नई चीज सामने नजर नही आ रही है। बजट में किसानों, मजदूरों, बेरोजगारों व देश के हर वर्ग को निराशा हाथ लगी है तथा यह केवल लोगों को भ्रमित करने वाला बजट है।

कांग्रेस नें यह भी कहा कि जब प्रधानमंत्री, वित मंत्री विपक्ष में थे तो 5 लाख तक आयकर में छुट देने की बात कहते थे परन्तु सत्ता में रहते हुए भाजपा ने ये तीसरा बजट पेश किया है और इस बजट में भी जनता को कोई ऐसी राहत नही दी है। लोकसभा चुनावों में प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की जनता से बड़े-बड़ें वायदे किये थे जैसे अच्छे दिन, मंहगाई पर लगाम, बेरोजगारों के लिए हर वर्ष दो करोड़ नये रोजगार के उपलब्ध करवाना इत्यादी परन्तु बजट में ऐसी कोई बात नजर नही आती है कि कब अच्छे दिन आयगें, कैसे रोजगार का सृजन होगा इत्यादी। उन्होंनें कहा कि मोदी ने देश में बुलेट ट्रैन चलाने की बात कही है, परन्तु बजट में बुलेट ट्रैन का कोई जिक्र नही किया गया है।

नोटबन्दी पर कांग्रेस ने कहा कि नोटबन्दी का फैसला जो केन्द्र सरकार का देश की जनता पर बिना सोचे-समझें थोपा गया था, जिससे देश का हर वर्ग परेशान हुआ, देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकासान उठाना पडा और खास कर नोटबन्दी के इस फैसले ने किसानों, मजदूरों, छोटे व्यापारियों तथा आम लोगों की कमर तोड कर रख दी है। कांग्रेस ने यहबी कहा कि सबको उम्मीद थी कि नोटबंदी के इस फैसले से देश की अर्थव्यवस्था और आम लोगों को जो नुकसान हुआ है इस बजट में सरकार उस पर आम लोगों को राहत देगी, परन्तु बजट में सरकार ने सबकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।

वास्तविकता ये है कि पेश किये गये आम बजट में कुछ भी नही है और इस बजट में किसानों, मजदूरों व बेरोजगारों को अनदेखा किया गया है। बजट में जहां हिमाचल के संदर्भ की बात है तो हिमाचल के लिए बजट में कुछ भी नही है, तथा बजट से प्रदेश के हिस्से में निराशा आई है और बजट से प्रदेश की जनता को जो उम्मीदे थी उन्ह उम्मीदो पर केन्द्र सरकार ने पानी फेर दिया है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS