बिलासपुर में दुकानदार को थमा दिया 2000 का नकली नोट, बाजार में मचा हड़कंप

0
3313
fake-2000-note-in-himachal-pradesh
Photo: Punjab Kesari

बिलासपुर- केंद्र सरकार ने देश में बढ़ रहे नकली नोटों और भ्रष्टाचार रोकने को लेकर जो कड़ा कदम उठाया था उस भले ही देश वासियों ने सराहा हो पर नोटबंदी का विरोध करने वालो को भी कमी नहीं है!नोटबंदी के फैसले को इसलिए लागू किया गया था ताकि नकली नोटों को कारोबार पर अंकुश लग सके! लेकिन शातिर दिमागों ने 2000 रुपए के नकली नोटों को प्रिंट होने जैसे आम बातें भी सुनने को मिल रही है!

इसी तरह का मामला हिमाचल प्रदेश के विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नयनादेवी में सामने आया है! एक श्रद्धालु द्वारा दो हज़ार का नकली नोट दुकानदार को दिया गया और श्रद्धालु ने 300 रुपए का प्रसाद लिया और दुकानदार ने उसे 1700 रुपए वापस कर दिए। दुकानदार को यह पता नहीं था कि यह नोट असली है या नकली है।

दुकानदार पप्पू राम ने भी पहली बार ही 2000 का यह नोट लिया था जिस कारण वह धोखा खा गया और जब यह नोट उसने उसकी दुकान के पास से गुजर रहे बैंक कर्मी को दिखाया तो उसने बताया कि यह नकली नोट है। दुकानदार यह जानकर हक्का-बक्का रह गया और इस घटना के बाद पूरे बाजार में हड़कंप मच गया। सभी दुकानदार इस नकली नोट को देखने के लिए पहुंचने लगे और अब कई दुकानदारों ने यह निर्णय लिया है कि वे 2000 रुपए का नया नोट नहीं लेंगे क्योंकि कई दुकानदारों को अभी नए नोट के बारे में जानकारी नहीं है जिसके चलते श्रद्धालुओं को भी अब काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नोट बंदी का असर पुरे देश में हुआ है वहीं हिमाचल के दुकानदारो पर भी नोटबंदी दुकानदार नोटबंदी का सीधा असर देखने को मिला है जिस वजह से व्यापारी काफी परेशान हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS