खाप पंचायतों ने लड़कियों के लिए जारि किए आदेश

0
223
khap-panchayat-ban-girls-mobile

khap-panchayat-ban-girls-mobile

“महिलाओं की सुरक्षा के लिए लड़कियों के मोबाइल फोन इस्तेमाल और शादियों में सड़को पर नाचने पर खाप पंचायतो ने रोक लगाने के आदेश दिए है”

देश में खाप पंचायतें आए दिन नए -नए आदेश जारि करती रहती है ऐसा ही एक ओर फरमान लड़कियों की सुरक्षा के लिए राज्यस्थान के उदयपुर जिले के सलुम्बर इलाके में स्थित अल्पसंख्यक समाज की लड़कियों के लिए खाप पंचायतों ने एक आदेश पारित कर दिया है। पंचायत ने लड़कियों के घर से बाहर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने और शादि -विवाह जैसे समारोह में सड़को पर नाचने पर रोक लगा दी है। अंजुमन मुस्लिम पंचायत के सचिव हब्बीबुर्रहमान ने बताया कि कुछ दिन पहले पंचायत की बैठक में ये फैंसला लिया गया है कि लड़किया घर से बाहर मोबाइल फोन का इस्तेमाल न करें उन्हें अगर मोबाइल का इस्तेमाल करना है तो वो इसका इस्तेमाल घर पर ही कर सकती है घर से बाहर स्कूल और कालेज में उन्हें मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की छुट नहीं दी जाएगी जिससे उनके लड़को से संर्पक पर रोक लग सके।

पंचायत ने लड़कियों के विवाह में सड़को पर नाचने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है , लड़कियां केवल घर के अंदर ही होने वाले कार्यक्रमों में नाच गा सकती है। उन्होनें कहा कि हमारे समाज में लड़के लड़कियों में अंतरजातीय विवाह के मामले सामने आये है ,ये गंभीर बात है और इस तरह के मामलों को रोकने के लिए पंचायत ने ये निर्णय लिया है। पंचायत महिला स्वतंत्रता के खिलाफ नहीं है , हम शिक्षा में महिलाओं को प्रोत्साहित कर रहें है, लेकिन पंचायत इसके साथ ही इस बात की तरफ भी ध्यान दे रही है कि समाज की मर्यादा का आदर हो। उन्होंने बताया कि पंचायत ने अन्तरजातीय विवाह पर रोक लगाते हुए इसका उल्लघंन करने वालों को 51 हजार रुपये का जुर्माना देना जारी किया है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

NO COMMENTS