Protest at AG Office Shimla over removal of outsource workers


शिमला-
एजी ऑफिस शिमला से पैंतीस आउटसोर्स कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के खिलाफ सीटू जिला कमेटी शिमला के बैनर तले मजदूरों ने आज एजी ऑफिस में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन सुबह सात बजे से शुरू होकर साढ़े ग्यारह बजे तक चला।

चार घण्टे के प्रदर्शन के बाद प्रधान महालेखाकार व यूनियन पदाधिकारियों के बीच आधे घण्टे की बातचीत हुई। बातचीत में निकाले गए सभी पैंतीस ठेका मजदूरों को नौकरी पर दोबारा रखने की सहमति बनी व सभी मजदूरों को डयूटी पर बहाल कर दिया गया।

सीटू जिला महासचिव विजेंद्र मेहरा ने कहा कि एजी ऑफिस के अधिकारियों व ठेकेदार ने इन पैंतीस मजदूरों को बिना नोटिस बिना कारण गैरकानूनी तरीके से नौकरी से निकाल दिया था। ये मजदूर एजी ऑफिस में पिछले दस से बीस वर्षों से कार्यरत थे। मेहरा ने आरोप लगया कि ठेकेदार बदलने की आड़ में इन मजदूरों की बेवजह छंटनी कर दी गई थी।

उन्होंने कहा कि ठेकेदार ठेका मजदूर अधिनियम 1970 का उल्लंघन करना बन्द करें नहीं तो सीटू श्रम कानूनों को लागू करवाने व मजदूर हितों की रक्षा को लेकर बड़ा आंदोलन करने से भी नहीं हिचकिचायेगी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें