मुख्यमंत्री जयराम की राहुल गांधी को शादी करने की सलाह, कहा कहीं प्रधानमंत्री बनने के सपने के साथ शादी भी न रह जाये सपना

0
61
Congress Vs BJP in Himachal Pradesh

शिमला-भारत की दो सबसे बड़ी राजनितिक पार्टियों के बीच बयानबाजी का दौर चुनाव के चलते गर्माता जा रहा है! असली मुद्दों पर चुनाव लड़ने के बजाये पार्टियां बेमतलब नारे देकर जनता क्या ध्यान भटकाने में पूरी ताकत झोंक रहे है! जंहा मीडिया को ऐसे समय में असली मुद्दों को उजागर करना चाहिए, वह भी इन चटपटी बयानबाजियों का मजा ले रहे हैं!

इस कड़ी में प्रदेश कांग्रेस महासचिव रजनीश किमटा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की उस सलाह पर बिफर गए जिसमें उन्होंने राहुल गांधी को जल्द शादी करने की बात कही है। किमटा ने भाजपा को उलटी सलाह दे डाली कि किसी के निजी जीवन पर कुछ कहने से पूर्व उन्हें अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसी कोई सलाह देनी चाहिए। किमटा ने कहा कि कांग्रेस के पास दूल्हा भी है और पूरी बारात भी,जो प्रदेश की चारो सीटों पर शहनाई के साथ चल पड़ी है और 23 मई को प्रदेश के चारों भाजपा सांसदों की विदाई तय है।

दरअसल मार्च 28, 2019, को मुख्यमंत्री बिलासपुर के घुमारवीं में महिला सम्मलेन को सम्बोधित करते हुए कहा
था कि राहुल गांधी को अब शादी कर लेनी चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि प्रधानमंत्री बनने के सपने के साथ उनके लिए शादी भी सपना ही रह जाए!

भाजपा के “मैंभी चौकीदार” नारे के बदले कांग्रेस ने मिशन 2019 “चौकीदार हटाओ,देश बचाओ” का नारा दिया है। किमटा ने तंज कसते हुए कहा कि देश को चौकीदार कि नही ऐसे राज नेता कि जरूरत है,जो जुमले बाजी न कर लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करें। किमटा ने कहा कि चौकीदारी तो कोई भी कर लेगा।देश के लोगों ने अपना मत देकर, सरकार को चुना था, न कि किसी चौकीदार को। किमटा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पद की गरिमा को गिरा दिया है।।

किमटा का कहना है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता पूरी तरह उपेक्षित हो गए हैं।जिन नेताओं ने इस पार्टी की नींव रखी थी,उन्हें उनकी उम्र का तकाजा देते हुए घर बिठा दिया गया है। किमटा ने कहा के भाजपा के आज के ये नेता जो कभी अपने इन नेताओं को अपना आदर्श ओर प्रेरणा स्रोत मानते थे,उन्हें बाहर कर दिया गया है। किमटा ने ये भी कह दिया कि जो पार्टी अपने बजुर्गो की नही हो सकी वह देश के लोगों की क्या होंगी।

किमटा ने मुख्यमंत्री की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें अब अपनी कुर्सी की चिंता कर लेनी चाहिए।प्रदेश में लोकसभा चुनावों के बाद भाजपा में राजनेतिक भूचाल आने वाला है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें