हिमाचल को नही बनने देंगे वामपंथी विचारधारा का पश्चिम बंगाल या जे.एन.यू : बजरंग दल

0
253

शिमला- हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी में रविवार को शुरू हुई हिंसा की कड़ी थमने का नाम नहीं ले रही! सोमवार को दो गुटों की छात्रओं की बीच हाथा पायी हुई जिसमे कुछ छात्रायें घायल हुई!इसके चलते कैंपस में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है!

हिमाचल के मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री के बयानों के बाद अब  बजरंग दल की हिमाचल प्रदेश यूनिट ने रविवार को समरहिल में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस ) की शाखा और स्टुडेंट फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (एस. एफ. आई.) के बीच हुई झड़प को लेकर एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर इस घटना का विरोध किया! बजरंग दल के प्रांत सह सयोंजक पवन समेला ने एस. एफ. आई के सदस्यों को गुंडा तत्व करार देते हुए प्रदेश सरका तथा प्रशासन से एस.एफ.आई. के सदस्य जो इस हमले शामिल थे उन्हें यथाशीघ्र गिरफ्तार कर उन पर कड़ी से कड़ी कानूनी करवाई करने की मांग की है।

समेला ने कहा कि एस. एफ. आई के लोग देश विरोधी है और आपराधिक मानसिकता रखते हैं और उन पर नकेल कसी जानी चाहिए!

पवन समेला ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ 1925 से देश सेवा में लगा हुआ है। पूरे भारत वर्ष में शाखा के माध्यम से लोगो में राष्ट्रभक्ति का भाव तथा वौद्धिक, मानसिक, शारिरिक विकास किया जाता है।

उनहोने आरोप लगया कि वामपंथी विचारधारा हमेंशा से देश विरोधी तथा धर्म विरोधी रही है। केरल में भी वामपंथी विचाराधारा के लोगों ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले कर कई स्वयं सेवक बन्धुओं की निर्मम हत्या है।

पवन समेला ने कहा कि देश विरोधी प्रदेश को किसी भी कीमत पर वामपथियों की विचारधारा का पश्चिम बंगाल या जे.एन.यू. नही बनाने दिया जाएगा। ऐसे देश विरोधी लोगों तथा देश विरोधी विचारधारा को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जाएगा।

पवन समेला ने कहा कि बजरंग दल प्रदेश सरकार से माॅग करता है कि स्वयं सेवको पर हमला करने वालों को शीघ्र गिरफ्तार कर उन पर कड़ी से कड़ी कानूनी कारवाई करे! उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन ऐसा करने में नाकाम रहता है, तो बजरंग दल पूरे प्रदेश में ऐसे देश विरोधी लोगो पर स्वयं कारवाई करने को बाध्य होगा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें