हिमाचल प्रदेश विधान सभा का बजट सदन समाप्त, कुल 13 बैठकों में 56 घण्टे 5 मिनट चली कार्यवाही

0
36
HP-Vidhan-Sabha budget session 2019-20 ends

शिमला-आज दिनांक 18 फरवरी, 2019 को सत्र के समापन अवसर पर हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने कहा कि इस सत्र के दौरान सदन की कुल 13 बैठकें आयोजित हुई तथा सदन की कार्यवाही 56 घण्टे 5 मिनट तक चली । इसमें प्रथम दिन राज्यपाल का अभिभाषण प्रस्तुत हुआ । इसके उपरान्त मुख्य मन्त्री ने अनुपूरक बजट प्रस्तुत किया तथा 5 फरवरी, को उसका पारण हुआ।

राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव चर्चा तीन दिन (दिनांक 5 फरवरी से 7 फरवरी, 2019) हुई जिसमें कुल 33 सदस्यों (पक्ष-18, प्रतिपक्ष-13 व सी पी आई (एम)-1 व निर्दलीय-1) ने भाग लिया तथा चर्चा 9 घण्टे 45 मिनट तक चली, चर्चा उपरान्त मुख्य मन्त्री ने दिनांक 7 फरवरी, 2019 को (1 घण्टे 30 मिनट) चर्चा का उत्तर दिया।

दिनांक 9 फरवरी, 2019 को माननीय मुख्य मन्त्री द्वारा वजट अनुमान वित्तीय वर्ष 2019-2020 प्रस्तुत किया । वजट अनुमानों पर सामान्य चर्चा तीन दिन (11 फरवरी से 13 फरवरी 2019) हुई जिसमें कुल 36 सदस्यों (पक्ष-18, प्रतिपक्ष-15, सी पी आई (एम)-1 व निर्दलीय-2) ने भाग लिया एवं चर्चा 10 घण्टे 01 मिनट तक चली, चर्चा उपरान्त माननीय मुख्य मन्त्री ने दिनांक 13 फरवरी, 2019 को 1 घण्टे 20 मिनट चर्चा का उत्तर दिया ।

दिनांक 15 फरवरी, से आज तक वजट की अनुदान मांगों पर विपक्ष ने अपने-अपने कटौती प्रस्ताव प्रस्तुत किए एवं सार्थक चर्चा की, चर्चा उपरान्त मुख्य मन्त्री /मन्त्रियों ने अपनी – अपनी मांगों से सम्बन्धित उत्तर दिए एवं मांगे पारित हुई । दिनांक 18 फरवरी 2019 को 4:00 बजे गिलोटिन द्वारा सभी मांगे पूर्ण रूप से पारित हुई एवं विनियोग विधेयक पर विचार विमर्श एवं पारण हुआ । अनुदान की विभिन्न मांगों पर विपक्ष के 14 माननीय सदस्यों ने भाग लिया।

इस सत्र के दौरान कुल 436 तारांकित तथा 196 अतारांकित प्रश्नों की सूचनाओं पर सरकार द्वारा उत्तर उपलब्ध करवाए गए।

सत्र में दो दिन गैर-सरकारी सदस्य दिवस निधार्रित हेतु थे जिस पर सदस्यों ने नियम 101 के अन्तर्गत 6 गैर-सरकारी संकल्प प्रस्तुत किए । सदस्यों ने अपने सुझाव दिये तथा एक सकंल्प सदन द्वारा पारित किया गया । इसके अतिरिक्त एक संकल्प पिछले सत्र में प्रस्तुत किया गया था पर भी चर्चा हुई तथा एक संकल्प सदन पर आगामी सत्र में चर्चा होगी ।

इसके अतिरिक्त 6 सरकारी विधेयक भी सभा में पुर:स्थापित एवं पारित किये गए। नियम-324 के अन्तर्गत विशेष उल्लेख के माध्यम से 6 विषय सभा में उठाये गये तथा सरकार द्वारा इस सम्बन्ध में वस्तुस्थिति से अवगत करवाया गया ।

सभा की समितियों ने भी 35 प्रतिवेदन सभा में उपस्थापित किये।इसके अतिरिक्त मन्त्रियों द्वारा अपने-अपने विभागों से सम्बन्धित दस्तावेज भी सभा पटल पर रखे गए तथा वक्तव्य भी दिये गए।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें