चायली पंचायत में स्वच्छ भारत अभियान की उड़ रही है धज्जियां, कोई सुध लेने वाला नहीं

0
616

ग्राम पंचायत चायली के अधीन निगम क्षेत्र के साथ सटे राजधानी शिमला का मुख्य द्वार कहे जाने वाले नेशनल हाईवे -205 के साथ सटे उपनगर ढांडा क्षेत्र की हालत पिछले कई वर्षों से बिखरी गंदगी के कारण दयनीय बनी हुई है ! टुटू विकास समिति के अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने कहा की हैरान करने की बात तो यह है की जिस स्थल पर यह कूड़ा बिखरा पड़ा है वहाँ ग्राम पंचायत चायली द्वारा स्वच्छता को लेकर कूड़ा खुले में न फैलाने को लेकर तथा चालान करने का बोर्ड भी लगा रखा है जहां हर समय बंदरों ने भी कूड़ा बिखेरने का आतंक फैलाया हुआ है !

NH-208-tutu-dhanda-gvarbage-problem

समिति अध्यक्ष ने कहा की राजधानी को निचले क्षेत्र से जोड़ने वाला मुख्य द्वार भी है जहां से अधिकतर प्रशासनिक अमला और तकरीबन पूरा मंत्रीमंडल निछले जिलों से आता-जाता है ! उन्होने कहा की इसी सड़क से ज़्यादातर पर्यटक शिमला से कुल्लू -मनाली की ओर जाता है और कूड़े के ढेर देख व बदबू होने से भी देवभूमि हिमाचल की छवि खराब होती है !

गुप्ता ने कहा की जहां एक ओर स्थानीय जनता भी रोजाना कूड़ा न उठने के कारण परेशान हैं वहीं दूसरी ओर भारत सरकार व प्रदेश सरकार द्वारा स्वच्छ भारत अभियान की योजना की भी सरेआम धज्जियां उड़ रही है ! उन्होने कहा की स्थानीय वासियों का भारी बदबू व कूड़ा बिखरा होने के कारण व ढेर पर बंदरों के आतंक से टुटू -ढेन्डा के बीच रोजाना पैदल चलना भी दुर्भर हो गया है !

chaily-panchayat-dhanda-garbage

समिति अध्यक्ष ने कहा की कभी भी कोई गंभीर बीमारी इस गर्मी के मौसम में इलाके में फैल सकती है ! समिति अध्यक्ष ने प्रदेश सरकार से रोजाना कूड़ा उठाने की उचित व्यवस्था करने की मांग की है ताकि प्रदूषण से भी बचा जा सके और पर्यावरण को भी नुकसान न हो और कोई गंभीर बीमारी फैलने से पूर्व उसकी रोकथाम की जा सके !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें