Connect with us

राजनीति

मंत्री जीएस बाली आपसी फूट के पहले शिकार नहीं, पहले भी कांग्रेस के कई मंत्री पी चुके हैं कड़वा घूँट:भाजपा

शिमला- हिमाचल प्रदेश भाजपा प्रदेश के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, पूर्व मंत्री व मुख्य प्रवक्ता डा0 राजीव बिन्दल, पूर्व मंत्री किशन कपूर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर धर्मशाला में आयोजित रैली के दौरान कांग्रेस नेताओं की आपसी फूट पर निशाना साधा है भाजपा का कहना है के इस दौरान मंच पर किसे बैठाना है या किसे नहीं बिठाना है यह भले ही कांग्रेस पार्टी का आंतरिक मामला हो परन्तु वरिष्ठ मंत्री जीएस बाली को मंच पर न बैठाकर जिस तरह से उनका अपमान किया है उससे स्पष्ट हो गया है कि अब कांग्रेस लोकतान्त्रिक पार्टी नहीं बल्कि व्यक्ति विशेष के इशारों पर चलने वाले कुछ लोगों का क्षेत्रीय दल बनकर रह गया है।

भाजपा नेताओं ने कहा कि जिस तरह से एक वरिष्ठ मंत्री का अपमान कांग्रेस के नेताओं द्वारा ही किया गया वह केवल पहला मामला नहीं है इससे पूर्व भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनन्द शर्मा सहित कई अन्य नेता अपमान के इन घूण्टों को पी चुके है। वर्तमान कांग्रेस पार्टी ऐसे लोगों का दल बनकर रह गया है जो व्यक्तिगत स्वार्थों और व्यक्ति विशेष के इशारे पर लोकतान्त्रिक परम्पराओं का सम्मान करना अपनी शान के खिलाफ समझते है। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को भी इस बात को समझने की आवश्यकता है कि जहां वरिष्ठ नेताओं का ही सम्मान नहीं होता वहीं आम कार्यकर्ता की क्या हालत होगी।

भाजपा ने यह भी कहा कि वरिष्ठ मंत्री जीसी बाली का यह ब्यान भी समझ से परे है कि वह अपने अपमान की शिकायत भी उन्हें लोगों से करना चाह रहे हैं जिनके इशारों पर यह लज्जित करने वाली घटना हुई है। शायद वह न्याय के नियमों को नहीं जानते हैं। अपमान के कड़वे घूॅंट पीने से वेहतर है कि वह अपने इस अपमान के प्रति चुप्पी साध लें क्योंकि वर्तमान में वह जिस दल के नेता हैं वहां केवल एक व्यक्ति की तानाशाही के अतिरिक्त और कुछ नहीं है।

भाजपा नेताओं ने चार्जशीट पर कांग्रेस नेताओं के ब्यानों पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अपने विरूद्ध लगे आरोपों को नकारने से वेहतर है कि वह इन आरोपों की सत्यता की जाॅंच किसी निर्वतमान न्यायधीश अथवा स्वतन्त्र जाॅंच एजैंन्सी से करवाएं। भाजपा ने कांग्रेस नेताओं के उन ब्यानों की याद दिलवाई जो जार्चशीट आने से पूर्व कांग्रेस नेताओं दिए थे और कहा था कि आरोप झूठे होने पर वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे उनका ऐसा करने से निश्चित रूप में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता परन्तु स्वयं कांग्रेस नेता यह जानते हैं कि भाजपा के लगाए आरोपों में पूरी तरह से सत्यता है।

ऐसे में किसी भी आरोप की जाॅंच न्यायालय द्वारा होगी तो वह अवश्य कानून की गिरफ्त में होंगे। ऐसे में कांग्रेस नेता मात्र ब्यानवाजी से काम चलाकर जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Featured

हमीरपुर से भाजपा के पूर्व सासंद सुरेश चंदेल कांग्रेस में शामिल

Hamirpur MP Rajesh Chandel Joins Congress

शिमला-चुनावी दौर में शीर्ष पार्टियों के नेताओं में संत-गांठ जारी है। इसी कड़ी में अब भाजपा के पूर्व सासंद सुरेश चंदेल ने आज कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। उन्होंने नई दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर की उपस्थिति में पार्टी का सदयस्ता फार्म भरा। चंदेल भाजपा से हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से तीन बार सांसद रह चुके हैं।

कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद उन्होंने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से शिष्टाचार भेंट की।राहुल गांधी ने उन्हें पार्टी में शामिल होने पर अपनी शुभकामनाएं दी।सुरेश चंदेल राज्य सभा मे कांग्रेस के उपनेता आनंद शर्मा से भी मुलाकात की ।आनद शर्मा ने कांग्रेस पार्टी में शामिल होने पर उन्हें बधाई व शुभकामनाएं दी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने सुरेश चंदेल का स्वागत करते हुए कहा कि उनके लम्बे राजनेतिक अनुभव से प्रदेश में पार्टी को मजबूती मिलेगी।

कुछ दिन पहले पार्टी से निकले गए हरीश जनारथा को भी कांग्रेस ने दुबारा दाल में शामिल कर लिया था। इससे पहले सुखराम ने दोबारा कांग्रेस में वापसी की थी।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Featured

भाजपा अध्यक्ष सत्ती के प्रचार पर बैन नहीं लगा तो हर जगह किया जायेगा घेराव,दिखाए जाएंगे काले झंडे:सुखविंदर सुक्खू

Ban bjp president Satpal Satti's Election rallies

शिमला– कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी को लेकर आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल को लेकर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती घिर गए हैं। बद्दी में आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल के लिए चुनाव आयोग से नोटिस मिलने के बाद भाजपा के राज्य अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती अब दुबारा राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियां करने की वजह से चुनाव आयोग के निशाने पर आ गए हैं। आयोग ने सत्ती को एक और नोटिस ज़ारी कर 48 घंटों में जवाब माँगा है।

भाजपा के लिए चिंता की बात ये है कि इस बार यह मामला किसी की शिकायत पर सामने नहीं आया। बल्कि आयोग की सरवेलिएन्स (surveillance) टीम ने खुद ऊना जिले के गगरेट विधानसभा के भंजाल में सत्ती की एक सभा की वीडियो रिकॉर्डिंग की जिसके आधार पर उन्हें दूसरा नोटिस भेजा गया है। इस बार सत्ती पर प्रियंका के पहनावे व राहुल के शादी न करने को लेकर आपत्तिजनक बयानबाज़ी करने का आरोप है।

इसके अलावा सत्ती पर इस बयानबाज़ी को लेकर एक एफआईआर भी दर्ज़ हो चुकी है।

कांग्रेस ने वीरवार को उनके खिलाफ आंदोलन का एलान किया है! वीरवार को सुखविंदर सुक्खू की अध्यक्षता में कांग्रेस का एक प्रतिनिमण्डल मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार से मिला।

इन्होंने देवेश कुमार के माध्यम से मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को ज्ञापन भेजा। जिसमें सत्ती के प्रचार पर बैन लगाने और उन पर कड़ी धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कराने की मांग की गई है। सुक्खू ने अल्टीमेटम दिया है कि अगर सत्ती के प्रचार पर बैन नहीं लगाया गया तो शुक्रवार से सत्ती का हर जगह घेराव किया जाएगा व काले झंडे दिखाए जाएंगे।

सुक्खू ने कहा कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा उनकी मांग पर तत्काल कार्रवाई करें। चूंकि, सत्तारूढ़ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती सभी मर्यादाएं तोड़ते हुए चुनावी जनसभाओं में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं व सामाजिक संस्थाओं के खिलाफ जहर उगल रहे हैं।

सुक्खू ने कहा कि ताजा उदाहरण भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती की सोलन जिले के बद्दी व ऊना जिले के भंजाल में हुई चुनावी जनसभा है। सूक्खू ने कहा है कि सतपाल सत्ती ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध न केवल अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया, बल्कि सामाजिक संस्था राधा स्वामी के अनुयायियों पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की।

बद्दी के ही रामशहर में सतपाल सत्ती कि एक वीडियो में वे आरोपण ये कहते सुनाई दिए थे कि “राजनीति बहुत टफ है। बहुत पैसे लगते हैं, घर बिक जाते हैं। चुनाव के दिनों में वो लोग जो राधा स्वामी होते हैं, वे भी कहते हैं कि कुछ दे दो तो ही ठीक है।”

सुक्खू ने कहा कि भाजपा नेता ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पहनावे को लेकर भी बेहुदा टिप्पणियां कर रहे हैं। ये नाकाबिले बर्दास्त है। सुक्खू ने कहा कि इस तरह की बदजुबानी से कांग्रेस जनों के साथ ही आम जनमानस की भावनाएं भी आहत हुई हैं। इसलिए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती पर चुनाव आयोग कड़ी कार्रवाई करे। क्योंकि, उन्होंने आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

सत्ती की सफाई

सत्ती का कहना है कि उनके वीडियो और बयां को तोड़ मरोड़ के मीडिया में पेश किया जा रहा है। उनका मानना है कि वो तो सिर्फ एक फेसबुक कमेंट पढ़ रहे थे जो किसी और ने राहुल गाँधी के ऊपर किया था। भाजपा भी राहुल गाँधी के चुनाव प्रचार पर रोक लगाने हेतु चुनाव आयोग को अपनी शिकायत दे चुके हैं।

निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार से मिलने वाले परदिनिधि मंडल में पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर, प्रदेश महासचिव हरभजन सिंह भज्जी, चेयरमैन मीडिया समन्वय समिति नरेश चौहान, प्रदेश उपाध्यक्ष महेंद्र चौहान, प्रदेश सचिव रितेश कपरेट, शिमला शहरी कांग्रेस अध्यक्ष अरुण शर्मा, कांग्रेस लीगल सेल के चेयरमैन आईएन मेहता, एससी सेल के वाईस चेयरमैन सुरेंद्र गर्ग, अमरजीत सिंह, अनूप रत्न व राजेन्द्र शर्मा शामिल थे।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Featured

हरीश जनारथा कांग्रेस में पुनः शामिल, हर्ष सैनी निलंबित

Harish Janartha

शिमला-लोक सभा चुनाव के आते ही हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पार्टी से निष्कहीत हरीश जनारथा को आज दोबारा अपने दाल में शामिल कर लिया।

जनारथा शिमला विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनावों के दौरान पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ने पर निष्कासित किये गए थे। अब अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की मंजूरी पर हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने उनके निष्कासन को बहाल कर दिया है तथा उन्हें पार्टी में पुनः शिमला किया गया है

उन्होंने उम्मीद जताई कि हरीश जनारथा लोकसभा चुनावों में कड़ी मेहनत और लग्न के साथ पार्टी में अपनी सेवाएं देंगे ।

वंही राठौर ने हर्ष सैनी, ऊना के जिला कांग्रेस कमेटी के सचिव, को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त पाये जाने पर कांग्रेस पार्टी की सदस्यता से निलंबित किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने इस सन्र्दभ में हर्ष सैनी को अपना स्पष्टीकरण देने के लिए 7 दिन का समय दिया है। कांग्रेस ने कहा है कि अन्यथा कांग्रेस पार्टी की सदस्यता से निष्कासित किया जाएगा।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Trending