Connect with us

कैम्पस वॉच

बीएएमएस पाठयक्रम में सत्र 2016-17 के लिए अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र जारी

HP University

विश्वविद्यालय द्वारा अभ्यर्थियों को काऊँसलिंग के लिए अलग से कोई बुलावा-पत्र डाक द्वारा नहीं भेजे गए हैं। इस सम्बन्ध में किसी भी जानकारी के लिए अभ्यर्थी दूरभाष 0177-2830891 तथा 0177-2833588 पर सम्पर्क कर सकते हैं

शिमला- बीएएमएस (BAMS) पाठयक्रम में शैक्षणिक सत्र-2016-17 के लिए प्रवेष हेतु दिनांक 14 नवम्बर 2016 को हुई काऊँसलिंग के आधार पर जिन अभ्यर्थियों को प्रवेश परीक्षा की मैरिट के आधार पर काऊँसलिंग कमेटी द्वारा सीटें आबटित की गई थी, उनको प्रवेश-पत्र जारी कर दिए गए है, जो कि विश्वविद्यालय की वेबसाईट पर उपलब्ध है ।

सभी अभ्यर्थयों अपना प्रवेश -पत्र उक्त वेबसाईट से डाऊनलोड करके निर्धारित फीस तथा सभी मूल प्रमाण-पत्रों सहित दिनांक 25-नवम्बर-2016 को सुबह 10:00 बजे प्रधानाचार्य राजीव गाँधी राजकीय स्नातकोतर आयुर्वैदिक महाविद्यालय पपरोला के कार्यालय में प्रवेश हेतु रिर्पोट करें, अन्यथा अभ्यर्थी का प्रवेश हेतु दावा रदद समझा जायेगा ।

इसके अतिरिक्त 04 सीटें रिक्त रह गई हैं जिसमें एससी(SC) की 02, भूतपूर्व सैनिकों के बच्चों के लिए 01 तथा शारीरिक विकलांग के लिए 01 सीट रिक्त हैं, उनको भरने हेतु सूची प्रवेश पत्रों सहित अलग से विश्वविद्यालय की उक्त वेबसाईट पर अपलोड की जायेगीे। विश्वविद्यालय द्वारा अभ्यर्थियों को काऊँसलिंग के लिए अलग से कोई बुलावा-पत्र डाक द्वारा नहीं भेजे गए हैं ।

इस सम्बन्ध में किसी भी जानकारी के लिए अभ्यर्थी दूरभाष 0177-2830891 तथा 0177-2833588 पर सम्पर्क कर सकते हैं ।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Featured

एच.पी.यू. के ऑनलाइन पोर्टल पूरी तरह न चलने से छात्र नहीं करवा पा रहे फीस जमा, तिथि बढाने की मांग

HPU Online Fee Desposit Portal

शिमला-हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में छात्रों को पीजी कोर्सेज की फीस जमा करते वक़्त छात्रों को पेश आ रही है। छात्रों का कहना है कि अभी तक भी फीस जमा करने का ऑनलाइन पोर्टल पूरी तरह से एक्टिवेट नहीं हुआ है।अभी तक केमिस्ट्री, फिजिक्स,माइक्रोबायोलॉजी, का पोर्टल एक्टिवेट नहीं हुआ है।आर्ट्स ब्लॉक के अन्तर्गत एम कॉम, एम ए इंग्लिश, एम ए लोक प्रशासन,एम ए म्यूज़िक,एम ए संस्कृत,एम ए राजनीतिक शास्त्र जैसे विभागो की फीस का पोर्टल अभी तक नहीं खुला है।

विश्विद्यालय के अधिकतर विभागो की फीस जमा नहीं हो रही है।छात्र परेशान हो रहे है क्योंकि प्रशासन ने फीस जमा करने का ऑनलाइन पोर्टल अभी तक भी एक्टिव नहीं किया है।जिन विभागों का पोर्टल एक्टिव हुआ है वहां के चालान भी संशय से भरपूर है क्योंकि विश्वविद्यालय के प्रॉस्पेक्टस में फीस स्ट्रक्चर तथा चालान में फीस अलग है। ऐसे में छात्र अपने भविष्य को लेकर चिंता में है तथा दुविधा में रहने को मजबूर है।

इसी समस्या को लेकर आज एस एफ आई हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने रजिस्ट्रार को ज्ञापन सौंपकर कर फीस जमा करने में आ रही दिक्कतों से रूबरू कराया। उन्होंने फीस जमा करने की तिथि को बढाने की मांग की।कैंपस सचिव जीवन ठाकुर ने बताया कि हालांकि एस एफ आई पहले डी एस के समक्ष उठाने गई लेकिन डी एस अपने कार्यालय से नदारद थे।इसके साथ साथ 2015 बैच के यू जी के छात्रों की मांगो को लेकर भी रजिस्ट्रार के समक्ष रखा गया।

इसके साथ ही एस एफ आई ने 2015 बैच के छात्रों के लिए पासिंग परसेंटेज को 45% से घटाकर 40% करने की मांग की है। इंटरनल एसेसमेंट तथा थेओरी के अंकों को कंबाइन करके एग्रीगेट परसेंटेज बनाई जाने कि मांग भी की।

कैंपस अध्यक्ष विक्रम ठाकुर ने कहा कि प्रशासन की नलायकी तथा लेटलातीफी की वजह से छात्र फीस जमा नहीं करवा पाए हैं। प्रशासन को चाहिए कि जल्द से जल्द पोर्टल को सुचारू रूप से एक्टिवेट करे और फीस जमा करने की तिथि को भी तुरंत प्रभाव से एक्सटेंड किया जाए।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Featured

विश्वविद्यालय कैंपस में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर, प्रशासन के सामने पुख्ता सबूत पेश करने के बावजूद अधिकारियों को सरंक्षण

Corruption at its peak at hpu campus

शिमला-एस एफ आई हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने विश्वविद्यालय प्रशासन,कुलपति व प्रदेश सरकार का लगातार छात्रों की समस्यायों को नज़रंदाज़ करने व लगातार छात्र विरोधी फरमान जारी करने के विरोध में समरहिल चौक पर मुंह पर काली पटिया बांधकर विरोध प्रदर्शन किया।

सुबह से ही एस एफ आई के छात्र हाथो में विभिन्न मांगो को प्रदर्शित करते पोस्टर पकड़कर खड़े रहे।कैंपस सचिव जीवन ठाकुर ने बताया कि आज विश्वविद्यालय अपना स्थापना दिवस समारोह मना रहा है,ओर दूसरी ओर छात्र मांगो को लेकर आंदोलनरत है। छात्रों ने प्रदर्शन का अनूठा रूप दिखाया,क्योंकि कुलपति ने कैंपस में तानाशाह एजेंडा लागू कर धरने प्रदर्शन पर पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगा रखा है। एस एफ आई ने कहा कि छात्र मुख्यत कैंपस में छात्र संघ चुनाव की बहाली की मांग कर रहे है क्योंकि लगातार कैंपस में लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन हो रहा है।

Corruption at its peak at hpu campus 2

एस एफ आई ने कहा कि कैंपस में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर है । पी एच डी के अंदर अवैध रूप से फर्जी प्रवेश हो रहा है ।एस एफ आई ने प्रशासन के सामने पुख्ता सबूत पेश भी किए लेकिन प्रशासन अपने चहेते अधिकारियों को सरंक्षण दे रहा है । स्थापना दिवस के अवसर पर आज एस एफ आई ने मुख्यमंत्री को भी मांग पत्र सौंपकर छात्र मांगो को उठाया।एस एफ आई ने मांगपत्र के माध्यम से एस सी ए चुनाव को जल्द बहाल करने की मांग की। इसके साथ साथ एस एफ आई के छात्रों से हो रहे सौतेले व्यवहार को भी प्रमुखता से उठाया ।

एस एफ आई ने आरोप लगाया कि क्योंकि कुलपति विशेष विचारधारा को सरंक्षण दे रहे है।जिसका जीता जागता प्रमाण पिछले कल ए बी वी पी के छात्रों का निष्काषन बहाली करना है।हालांकि एस एफ आई निष्काषन बहाली के विरोध में नहीं है,लेकिन विचारधारा को निष्काषन बहाली का पैमाना बनाना आखिर कहां तक जायज है?एस एफ आई के सात छात्र पिछले पांच सालों से निष्कासित है ।एस एफ आई ने मांग की है कि इन छात्रों का निष्काषन भी जल्द से जल्द बहाल किया जाए।

Corruption at its peak at hpu campus 3

एस एफ आई ने कहा कि कैंपस में विभिन्न विभागों के प्राध्यापक संघ संबंधित छात्र संगठन के पदाधिकारियों में शामिल है।कैंपस में बिना किसी डर के प्राध्यापक छात्र राजनीति में सरेआम हिस्सा ले रहे है। एस एफ आई मांग की है कि ऐसे प्राध्यापको पर कड़ी कार्रवाई की जाए।कैंपस को धांधलियों का गढ़ बनाने वाले अधिकारियों पर भी एस एफ आई ने करवाई की मांग की है क्योंकि इन लोगो की वजह से शैक्षणिक स्तर में भारी गिरावट आई है ,तथा विश्विद्यालय की छवि भी धूमिल हो रही है।विश्वविद्यालय में छात्रावासो का आभाव है। प्रशासन सभी छात्रों को हॉस्टल सुविधा देने में नाकाम है।

एस एफ आई नए हॉस्टलों के निर्माण की मांग की है तथा वर्तमान में गर्ल्स होस्टल में बन्द हुई इंटर हॉस्टल आउटिंग ,तथा ब्वॉयज हॉस्टल के छात्रों को रात के समय लाइब्रेरी ना देने वाले निर्णय को जल्द वापिस लेने की मांग की है।कैंपस अध्यक्ष विक्रम ठाकुर ने कहा कि लंबे समय से इन्हीं मांगो को प्रमुखता से प्रशासन के समक्ष उठाया था।लेकिन फिर भी अभी तक प्रशासन ने कोई भी सकारात्मक पहल नहीं की।बल्कि आवाज़ उठाने वाले छात्रों को प्रताड़ित करने में ही ध्यान दिया। एस एफ आई ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री से उम्मीद करते है कि इन मांगो पर जल्द से जल्द छात्र हितेषी पहल को अंजाम दिया जाएगा । छात्रों ने चेतावनी कि यदि ऐसा नहीं होता तो एस एफ आई हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के अंदर आंदोलन को खड़ा करेगी

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Featured

ऐबीवीपी की मुख्यमंत्री से विश्वविद्यालय में जल्द भर्तीयां करने और बजट बढ़ा कर 200 करोड़ करने की मांग

ABVP Demands from CM Jairam Thakur

शिमला-आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय इकाई ने मुख्यमंत्री मंत्री को विश्वविद्यालय की विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा ।आज विश्वविद्यालय अपना 50 वां स्थापना दिवस मना रहा है इसी मौके पर मुख्यमंत्री आज मुख्य अतिथि के रूप शिरकत कर रहे थे ।

इकाई सचिव अंकित चन्देल ने बताया कि आज विश्वविद्यालय के सामने सवसे बड़ी चुनौती है कर्मचारियों की कमी व बजट का न होना जिस पर बाद में अपने भाषण में उन्होंने 15 करोड़ की बढ़ोतरी की बात भी की। ऐबीवीपी ने मांग की कि जल्द से जल्द विश्वविद्यालय में भर्तीयां की जानी चाहिए ।

  • अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा अन्य मुख्य मांगे इस प्रकार हैं:
  •  विश्वविद्यालय का बजट बढ़ा कर 200 करोड़ किया जाए ।
  •  विश्वविद्यालय में पर्किंग का निर्माण जल्द से जल्द किया जाए ।
  •  घनाहट्टी में विश्वविद्यालय को मिली जमीन पर जल्द से जल्द फारेस्ट क्लीयरेंस की जाए ।
  •  जल्द से जल्द शिक्षक गैर शिक्षक के खाली पड़े पदों को भरा जाए ।
  •  28A को खत्म कर विश्वविद्यालय को आर्थिक मामलों में स्वतंत्रता दी जाए ।
  •  नए होस्टल्स का निर्माण व खेल होस्टल का निर्माण किया जाए
  •  SC ST छात्रवृति घोटाले में शामिल सभी अधिकारियों को शीघ्र अतिशीघ्र गिरफ्तार किया जाए ।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Continue Reading

Trending