नगर निगम की दादागिरी से जनता परेशान–फीस से बचने के लिए अब समरहिल सड़क पर वाहन

0
714
summer-hill-road-condition

summer-hill-road-condition

चौक सी.पी.डब्ल्यू.डी.का वसूली निगम की
टैक्सी वाले अब चौक पर नहीं — फीस से बचने को समरहिल सड़क पर खड़ी कर रहे हैं गाड़ियां
वाह रे निगम — जहां देखा पर्ची काट दी
मालिक कोई –वसूलकर्ता कोई
शिमला में पहले ही सुविधाओं का अभाव –बढ़ रहें है निगम के भाव —
​​
नगर निगम शिमला की हाल ही कि दादागिरी से आम जनता परेशान है यह बात विकास समिति टूटू के अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने प्रैस को दिए एक बयान में कही ! नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि पिछले दिनों निगम ने एडवांस स्टडी चौक पर पार्किंग फीस वसूली के लिए राजेश नागपाल नामक ठेकदार को ठेका दे दिया है जिसके कर्मचारी वहाँ पर टेबल लगा कर रोजाना 20 रुपये से 40 रुपये तक कि प्रति वाहन पार्किंग फीस वसूली कर रहे हैं ! उन्होंने कहा कि समरहिल -टूटू -बालूगंज की ओर से शिमला को आने-जाने वाले ज्यादात्तर व्यक्ति अपनी सुविधानुसार निजी वाहन खड़े कर अक्सर चौड़ा मैदान को से घूमते हुए शिमला की ओर अपने कार्य से निकल जाते थे तथा वापस एच.आर.टी.सी.टैक्सी लेकर इस चौक तक आ जाते थे जिससे न केवल शिमला में भी वाहनो की भीड़ कम रहती है तथा जनता को भी काफी राहत थी !

उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टी से शिमला में टूरिस्टों के घूमने के लिए पहले ही कोई आकर्षित स्थान नहीं है और यदि गलती से एडवांस स्टडी को टूर -ट्रैवलर्ज व्यवसायियों व् टैक्सी चालकों ने इसे मशहूर टूरिष्ट स्पॉट बना दिया तो ऐसे में निगम को पार्किंग वसूली का लालच करना जायज नहीं !
नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि पहले ही एडवांस स्टडी परिसर घूमने का टिकट लगता है तथा यदि पार्किंग फीस वसूली की जायेगी तो इससे पर्यटकों में कमी आयेगी और ज्यादातर टैक्सी चालक इस स्पॉट को दिखाने के लिए नजर अंदाज कर देंगे ! उन्होंने कहा कि जबसे यह फीस वसूली की जाने लगी ज्यादातर टैक्सी चालक अब रोजाना इस पार्किंग फीस से बचने के लिए समरहिल सड़क पर अपनी टैक्सियां खड़ी करने लग गए जिससे चौक तो खाली हो गया परन्तु समरहिल सड़क पर रोजाना ट्रैफिक जाम लगने लग गया है ! नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि आई.टी.आई. होने पर आने जाने वाले छात्रों को भी इन वाहनो के खड़े होने के कारण काफी असुविधा हो रही है और हर समय दुर्घटना का अंदेशा भी बना हुआ है !

अध्यक्ष ने कहा कि नगर निगम सुविधाएं देने के नाम पर कोई विकास कार्य तो नहीं कर रहा है बल्कि बेफिजूल के ऐसे कार्य कर रहा है जिससे जन साधारण को परेशानी हो रही है ! उन्होंने कहा कि ऐसी अवैध रूप से पार्किंग वसूली के लिए सी.पी.आई.एम्. के नेता महापौर संजय चौहान तथा उपमहापौर टिकेन्द्र पंवार जिनके पास निगम की सत्ता है सीधे तौर पर दोषी हैं परन्तु उनके साथ-साथ निगम सदन भी इसके लिए सामूहिक रूप से जिम्मेवार है जो ऐसे प्रस्ताव खारिज करने की जगह पारित करता हैं जिन्होंने जनहित न देखकर ऐसे निगम प्रस्ताव को मंजूरी दी है ! नागेन्द्र गुप्ता ने कहा कि यदि बस चले तो नगर-निगम साईकल की पार्किंग फीस भी वसूली करने लग जायेगी परन्तु उपमहापौर खुद साईकल की सवारी करते हैं इसलिए यह फैसला अभी तक लंबित है !

उन्होंने कहा कि यह फैसला जनहित के लिए उचित नहीं है तथा पार्किंग फीस तुरंत बंद की जानी चाहिए ! सी.पी.डब्ल्यू.डी.तथा एडवांस स्टडी प्रशासन से भी तुरन्त निगम पर कार्यवाही करने की मांग की है !

विकास समिति अध्यक्ष नागेन्द्र गुप्ता ने केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से तुरंत अवैध रूप से पार्किंग वसूली करने वालों के टेबल उठाये जाने तथा निगम के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है ! उन्होंने मुख्यमंत्री से भी जनहित में हस्तक्षेप कर ऐसी अवैध वसूली को रोके जाने की मांग की है !

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें