मुख्यमंत्री को देना चाहिए इस्तीफा: रविंदर रवि

0
686
pc-mla-dehra-ravinder-ravi-(1)

pc-mla-dehra-ravinder-ravi-(2)

“देहरा के भारतीय जनता पार्टी के विधायक रविंदर रवि ने कहा कि मुख्यमंत्री को देना चाहिए इस्तीफा ,एक साल के कार्यकाल में नहीं हुआ है कोई भी विकास कार्य , भ्रष्टाचार के घेरे में फंसते जा रहे हैं मुख्यमंत्री”

ठाकुर रविंदर सिंह रवि ने प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर निशाना साधते हुए कहा है की प्रदेश में विकास के नाम पर तो सरकार नाकाम रही लेकिन भ्रष्टाचार में सरकार ने हर मुकाम हासिल कर लिया है पालमपुर में आज एक पत्रकार वार्ता में रविंदर सिंह रवि ने कहा है की एक साल से जयादा समय हो चुका है, प्रदेश की सरकार को बने लेकिन इस एक साल में प्रदेश सरकार ने किसी भी विकास के काम को अंजाम नहीं दिया है बाकी प्रदेश के मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार के घेरे में फंसते जा रहे हैं, जहां एक तरफ वीरभद्र सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं वो सही है ।

हाल ही में धर्मशाला विधान सभा के शीतकालीन स्त्र में 6 दिन में चार बार स्थगन प्रस्ताव पारित किया गया ओर बाकि समय में एक साल में वर्तमान सरकार द्वारा किस प्रकार के विकास कार्य किए गए हैं इसके बारे में समीक्षा की गई । वहीं रविंदर सिंह रवि नें वर्तमान मुख्यमंत्री की काली करतूतों का पर्दाफाश करते हुए कहा की मुख्यमंत्री के परिवार को बक्का मुल्ला ने इतना पैसा ऋण के रूप में कहा से दिया है, ओर इसके पास इतना पैसा कहा से आया है, जबकि बक्का मुल्ला के ने आज दिन तक जो भी प्रोजेक्ट है उनकी धन राशि अधर में लटकी है, उसे देने में असमर्थ नजर आया है ओर वहीं दूसरी ओर वीरभद्र परिवार को करोड़ो रुपए का ऋण देने में सफल हुए है जो की एक सवालीय निशान नज़र आ रहा है।

रवि का कहना है की तारिणी कंपनी में सी.एम की बेटी अपराजिता के तीन लाख चालीस हजार शेयर है जबकि सपुत्र विकरमादित्य के तीन लाख शेयर है ओर मुख्यमंत्री की धर्म पत्नी प्रतिभा सिंह के तीन लाख चालीस हजार शेयर है जो की कुल मिला कर नौ लाख शेयर इस परिवार के हैं ओर यह ही नहीं बल्कि बक्का मुल्ला की पत्नी के भी इस कंपनी में शेयर हैं । रविंदर रवि ने कहा है की यह कंपनी रजिस्टर भी नहीं है ओर हैरानी की बात तो यह है की वीरभद्र सिंह ने स्वयं कबूल किया है की बक्का मुल्ला वीरभद्र परिवार का पारिवारिक मित्र है।

pc-mla-dehra-ravinder-ravi-(1)

वहीं हिमाचल प्रदेश में खनन माफिया भी हर दिन हावी होता जा रहा है इसके साथ साथ भू- माफिया भी प्रदेश के चारो तरफ सक्रिय है । किसी भी क्षेत्र में जमीन खरीदी ओर बेची जा रही है ए बे रोक टोक सरकारी कर्मचारियों को फेर बदल किया जा रहा है ओर इस सरकार से आम आदमी परेशान है। रविंदर रवि ने बताया की इस सरकार के सत्ता में आने के बाद डीपुओं में राशन की भारी कमी आ गई है, ओर इस सरकार ने अब एक नया पैंतरा खेला है की अब राशन कार्ड में फोटो लगाना जरूरी है ओर घर की महिला इस राशन कार्ड में प्रधान रहेगी जबकि ऐसा आज तक इतिहास में नहीं हुआ है ओर इस नए कार्य से आम जनता को भी अच्छी ख़ासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।

वहीं आज रविंदर रवि ने कहा है की प्रदेश के मुख्यमंत्री सरकार चलाने में नाकाम साबित हो चुके हैं क्यों की इनके ऊपर लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लग रहे है ,जो की एक मुख्यमंत्री को शोभा नहीं देते है ओर इसके चलते मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए नहीं तो भारतीय जनता पार्टी कड़ा कदम उठाएगी।

काँग्रेस ने भूतपूर्व सैनिकों के साथ भी बहुत बड़ा खिलवाड़ किया है आज तक सी. एस. डी पर किसी तरह का कोई बैट नहीं था लेकिन अब इस पर भी चार प्रतिशत बैट लगा दिया गया है जो की एक शर्मनाक बात है ओर इस सरकार के समय में कोई भी आम आदमी या फिर नेता सुरक्षित नहीं है।

प्रदेश में इस सरकार ने आम आदमी को परेशान करने के सिवा कोई भी काम नहीं किया है मात्र बस किरायों में बृद्धि की है, ओर महंगाई पर किसी प्रकार का का कोई भी नियंत्रण नहीं है, वीरभद्र की पत्नी प्रतिभा सिंह ने जब मंडी में सांसद का चुनाव लड़ा था तब उन्होने मात्र दो करोड़ की संपती चुनाव आयोग के सामने पेश की थी ओर अब निकला कुछ ओर है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री कहते है कि वे पुरे प्रदेश के हित में कार्य कर रहें है लेकिन अभी हाल में ही प्रदेश में पच्चीस एडिशनल अडवोकेट चुने गए जिसमे बीस लोग शिमला के ही चुन लिए गए है, ओर एक व्यक्ति को मंडी जिले से नियुकत किया गया है, जबकि कांगड़ा जिले से तीन व्यक्तियों को चुना गया है ओर हमीरपुर जिले से भी मात्र एक ही व्यक्ति को चुना गया है। क्या पूरे प्रदेश में कोई भी शिक्षित व्यक्ति नहीं मिले जो शिमला से ही बीस लोग चुने गए हैं? इससे साफ जाहीर होता है कि मुख्यमंत्री को केवल शिमला से ही प्यार है।

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें