एक तरफ कैड़ल मार्च , दुसरी तरफ नहीं रुक रही है असमाजिक तत्वों की छेड़छाड़

0
460
eve-teasing

respect-women-protest-on-mall-shimla

एक और पुरा देश दिल्ली में हुए गैंग रेप की घटना को लेकर इंसाफ की गुहार लगाने और घटना के आरोपियों को कड़ी सजा दिलवाने के लिए दिल्ली सहित देश के अलग – अलग शहरों में प्रदर्शन कर है।दिल्ली की घटना केवल वहीं की समस्या नहीं है लड़कियों को ऐसी घटनाओं का शिकार होना, अब तो छोटे शहरों में भी आम हो गया है,राह चलते हुए महिलाओं पर भद्वे कमेंट करना तो आम बात हो गई है।ऐसा ही कुछ देखने को मिला शिमला शहर में जब दिल्ली की घटना के आरोपियों को सख्त सजा दिलाने के विरोध में स्कूली छात्र -छात्राएं कंेडल मार्च निकाल रहे थे ,तो बाहरी राज्य पंजाब से शिमला घूमने आए कुछ लड़को ने मार्च में शामिल लड़कियों को भद्वे कमेंट करना शुरु कर दिया और जब लड़कियों ने इसका विरोध जताया तो उन लड़को ने उन्हें गालियों से नवाजने में कोई कसर तक न छोड़ी ,जब शिमला पुलिस ने ये सब देखा और लड़को के खिलाफ सख्त कार्यवाही की गई।सोचने की बात तो ये है कि इतनी बड़ी घटना होने के बावजुद की कोई सबक नहीं लेना चाहता ,जिस देश में दिन के उजाले में महिलाए सुरक्षित नहीं है वहां उनका शाम के अंधेरे में घर से बाहर निकलना उनके लिए कैसे सुरक्षित हो सकता है। जिन्हें ये सब कुछ सहना पड़ता है उनका कसुर है भी तो क्या कि वो एक महिला है?

हिमाचल वॉचर हिंदी के एंड्रायड ऐप के लिए यहां क्लिक करें